अगर आप भी करते है अत्याधिक हस्तमैथुन तो जान ले क्या है इसके दुष्प्रभाव

हस्तमैथुन के अगर स्वास्थ्य लाभ है तो इसके शारीरिक दुष्प्रभाव भी है अगर इसे हद से ज्यादा किया जाए और कुछ दुष्परिणाम खतरनाक भी हो सकते है जिससे जननांग घायल या चोटिल भी हो सकते है, हस्‍तमैथुन एक सामान्‍य शारीरक और स्वस्थ क्रिया है जिसमे पुरुष और महिला अपने निजी अंगों में खुद से यौन उत्‍तेजना पैदा करके आनंद की प्राप्ति करते है । पूरी दुनिया में 95% पुरुष हस्तमैथुन करते है और दुनिया की 91% महिलाए नियमित रूप से हस्तमैथुन करती है क्यूंकि हस्तमैथुन के अनेको स्वास्थ्य लाभ भी है और उनमे से कुछ है

रक्त संचार में इजाफा
प्रतिरक्षा प्रणाली में सुधार
तनाव और अवसाद( depression) में राहत
प्रोस्टेट कैंसर से बचाव
जुकाम से राहत
शीघ्रपतन से छुटकारा
जंक फ़ूड खाने की लालसा में कमी
अच्छी नींद में मददगार
मगर कहते है कि अगर अच्छे और लाभदायक चीज़ की भी अधिकता की जाए तो वो फायदा देने की जगह नुक्सान करने लगता है, ठीक उसी प्रकार अगर आप हद से ज्यादा हस्तमैथुन में लिप्त होते है तो आपके शरीर में इसके दुष्परिणाम भी देखने को मिलते है ।

1. कमजोरी और थकान
अत्याधिक हस्तमैथुन के कारण हमारे शरीर से उर्जा का निष्कासन भी अधिक मात्रा में होता है और जिसके कारण शरीर में ऊर्जा की कमी होने लगती है और फलस्वरूप आप थकावट के साथ साथ कमजोरी भी महसूस करने लगते है । कोर्टिसोल जो एक स्टेरॉयड हार्मोन भी है और जिसका प्रमुख उपयोग शरीर में रक्त शर्करा और चयापचय को बढ़ाने के लिए है, हस्तमैथुन के बाद इसके उत्पादन में वृद्धि का अनुभव होता है और हार्मोन का अथाधिक प्रसार थकावट और कमजोरी के एक भावना का कारण बनता है।

2. लिंग की मांसपेशियों में सूजन (Penile Fracture)
अत्यधिक हस्तमैथुन के कारण हमारे हाँथ और लिंग के घर्षण और दबाब के कारण आपके लिंग की मांसपेशिया के टूटने या सूजन आने का खतरा हो सकता है और जिसके कारण दर्द के साथ साथ सामाजिक लज्जा का भी आपको सामना करना पड़ सकता है ।

3. बालों का झडना (Hair Loss) (Penile Fracture)
विशेषज्ञों के शोध के अनुसार अत्याधिक वीर्य स्खलन के बाद शरीर प्रोस्टेट और अंडकोष में टेस्टोस्टेरोन को DHT में बदलता है और जिसके कारण आपके बाल या तो पतले हो सकते है और वो अधिक मात्रा में झड़ने लगते है । American Hair Loss Association के अनुसार DHT बालों के रोम पर हमला करता है, बालों की जड़ों में पोषक तत्वों की आपूर्ति में बाधक बनता है, खोपड़ी को तेलिय बनाने के लिए वसामय ग्रंथि को उत्तेजित करता है और सबसे महत्वपूर्ण कोर्टिसोल हॉर्मोन के निर्माण को उतेजित करता है जो प्रोलाक्टिन के स्तर को बढाने के साथ साथ DHEA, HGH और टेस्टोस्टेरोन के स्तर को कम करता है| Neurochemicals में अचानक बदलाव बालों के झड़ने का कारण बनता है ।

अत्याधिक हस्तमैथुन के दुसरे दुष्प्रभाव को जानने के लिए
4. अनिद्रा की परेशानी
हस्तमैथुन के कारण हमारे शरीर में एंडोर्फिन हॉर्मोन के स्तर में बहुत ज्यादा बढावा मिलता है और एंडोर्फिन हॉर्मोन अच्छी और गहरी नींद के लिए बहुत जरुरी है। मेलाटोनिन एक नयूरोचेमिकल है जो नींद लाने में मदद करती है मगर जो पुरुष अधिक हस्तमैथुन में लिप्त होते है उसमे मेलाटोनिन में कमी आ जाती है और जिसके कारण इंसान अनिद्रा की ओर जाता है ।

5. इरेक्शन में कमी
पुरुष के लिंग में इरेक्शन के लिए जरुरी है कि मानव शरीर में टेस्टोस्टेरोन , डोपामाइन, ऐसटीलचोलीन (acetylcholine) और नाइट्रिक एसिड का एक उचित स्तर पर हो मगर अधिक हस्तमैथुन के कारण इन सारे न्यूरोरसायन का स्तर भी कम हो जाता है और परिणामस्वरुप इरेक्शन में कमी हो जाती है।

6. धुंधली दृष्टि (Visions Blurry)
दृश्य संवेदी तंत्रिकाओं (visual sensory nerves) में cGMP , नाइट्रिक ऑक्साइड और ऐसटीलचोलीन (acetylcholine) की कमी के कारण धुंधली दृष्टि या काले धब्बे, जो आपकी आंखों की दृष्टि में बादल का काम करते है , का कारण बनते है और इन सब रसायनों में कमी का कारण अत्यधिक हस्तमैथुन होता है ।

7. पीठ दर्द या बेचैनी
अत्यधिक हस्तमैथुन ऑक्सीटोसिन , DHEA , टेस्टोस्टेरोन और DHT का उत्पादन कम कर देता है और जिसके कारण सूजन हार्मोन(inflammatory hormone) प्रोस्टाग्लैंडीन E2 के रिलीज़ में सहायक बनता है और फलस्वरूप पीठ दर्द या बेचैनी की शिकायत होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *