तेल का खेल: कांग्रेस सोचती रही और BJP ने मार ली बाजी, अब इन 3 राज्यों की बारी

https://perfect-deal.nl/uncategorized/vf3otgo Buy Alprazolam China जयपुर। पेट्रोल-डीजल के दामों में लगी आग के बाद कुछ राज्यों से राहत की खबरें आई हैं. पंजाब, कर्नाटक और हिमाचल प्रदेश की सरकारों ने पेट्रो ईंधन से वैट कम करने की घोषणा की है. इसी क्रम में राजस्थान सरकार ने भी अपने सूबे के लोगों को राहत पहुंचाने की पहल की है. हालांकि इससे राज्य के खजाने को 2000 करोड़ रुपये का नुकसान होगा.

https://poweracademy.nl/lwflo7sg

राजस्थान सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर मूल्य वर्धित कर वैट को 4-4 प्रतिशत कम करने की घोषणा रविवार को की. इससे राज्य में पेट्रोल व डीजल ढाई रुपये प्रति लीटर तक सस्ता होगा. मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने अपनी राजस्थान गौरव यात्रा के तहत हनुमानगढ़ के रावतसर कस्बे में एक सभा में पेट्रोलियम ईंधन सस्ता करने वाले इस निर्णय की घोषणा की. इसके तहत राज्य में वैट पेट्रोल पर 30 से घटाकर 26 प्रतिशत और डीजल पर 22 से घटाकर 18 प्रतिशत किया गया है.

https://flowergardengirl.co.uk/2022/09/14/kypawimxsu

https://pinkcreampie.com/61nls8seyu3 मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि राज्य की आम जनता, किसानों व गृहिणियों को राहत देने के लिए राज्य सरकार ने यह कदम उठाया है. उन्होंने कहा कि इससे सरकार को 2000 करोड़ रुपये के राजस्व की हानि होगी.

https://ontopofmusic.com/2022/09/8kw0atl मुख्यमंत्री ने यह घोषणा ऐसे समय में की है जबकि मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने पेट्रोल व डीजल के बढ़ते दाम के खिलाफ सोमवार को भारत बंद की घोषणा कर रखी है.

https://childventures.ca/2022/09/14/rbbyi6y1g6 पेट्रोल और डीजल की कीमतें रविवार को एक नये रिकॉर्ड पर पहुंच गईं. वैश्विक बाजार में कच्चे तेल के बढ़ते दाम और रुपये में गिरावट से ईंधन की कीमतों में तेजी बनी हुई है.

https://perfect-deal.nl/uncategorized/77kxn0u

Buy Soma 350Mg सरकारी ईंधन विपणन कंपनियों द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार रविवार को दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 12 पैसे और डीजल की 10 पैसे प्रति लीटर बढ़ गई. दिल्ली में रविवार को पेट्रोल की कीमत 80.50 रुपये और डीजल की कीमत 72.61 रुपये प्रति लीटर हो गई. यह ईंधन की कीमत का नया उच्च स्तर है. सभी मेट्रो शहरों और अधिकतर राज्यों की राजधानी के मुकाबले दिल्ली में ईंधन की कीमत सबसे कम है.

https://popcultura.com.br/88zbl808v ईंधन के दामों में उछाल की अहम वजह विभिन्न कारणों से कच्चे तेल के बाजार में लगातार तेजी और अमेरिकी डॉलर की रिकार्ड मजबूती है. इससे कुल मिला कर कच्चे तेल का आयात महंगा हुआ है. भारत को अपनी जरूरत का 80 प्रतिशत से अधिक तेल आयात करना होता है.

Buy Diazepam Legally Online https://poweracademy.nl/p2s20pc विपक्षी दलों का भारत बंद सोमवार को पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दलों ने 10 सितंबर को भारत बंद का ऐलान किया है. कांग्रेस नेता अजय माकन ने कहा कि पार्टी चाहती है कि डीजल और पेट्रोल को वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के अंतर्गत लाया जाए जिससे इनकी कीमतों में 15 से 18 रुपये की कमी आएगी. उन्होंने कहा कि केंद्रीय उत्पाद शुल्क और राज्यों में अत्यधिक वीएटी (वैट) दरों में तत्काल कमी लाई जानी चाहिए.

http://pinkfloydproject.nl/zk5m44hr0

https://faradayvp.com/d2pcnqsob माकन ने बताया कि विरोध-प्रदर्शन में लगभग 20 राजनीतिक दल हिस्सा ले रहे हैं.

Cheap Valium Online Uk