जांबिया ने नहीं चुकाया कर्ज तो चीन ने किया उसके एयरपोर्ट पर कब्जा? जानें खबर की सच्चाई

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में अपनी विस्तारवादी नीतियों में लगा चीन एशियाई देशों के साथ अफ्रीका में भी अपने पांव बहुत तेजी से पसार रहा है. खासकर अफ्रीकी महाद्वीप के कई देशों में चीन भारी मात्रा में निवेश किया है. चीन ने अफ्रीकी देशों को बड़ा कर्ज दिया है. अब खबरें आ रही हैं कि अफ्रीकी देश जांबिया ने जब चीन के कर्ज की किश्त समय पर नहीं चुकाई तो उसकी कंपनी ने वहां के इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर अपना कब्जा जमा लिया है. इस तरह की खबरें अफ्रीका और जांबिया के मीडिया रिपोर्ट के हवाले से आई हैं.

अफ्रीकन स्टेंड डॉट कॉम की रिपोर्ट के अनुसार, चीन इस समय अपनी लोकलुभावन नीतियों से अफ्रीका को अपनी एक कॉलोनी बनाना चाहता है. अब जांबिया अपना लोन नहीं चुका पा रहा है तो चीन ने उसके एयरपोर्ट को टेकओवर करने का प्रस्ताव दिया है. चीन का दखल जांबिया में कितना है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जांबियन नेशनल ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन में चीन की हिस्सेदारी 60 फीसदी से ज्यादा हो चुकी है. इसका अर्थ ये है कि चीन की अनुमति के बिना कोई सूचना बाहर नहीं आ सकती.

अब जांबिया की सरकार ने ऐसी खबरों को नकारा
जांबिया के एयरपोर्ट को टेकओवर करने की खबरों को जांबिया की सरकार ने नकारा है. शिनुहानेट के अनुसार, सरकार के प्रवक्ता डोरा सिलिया ने ट्वीट कर उन रिपोर्ट को खारिज कर दिया है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि सरकार अपनी कुछ संपत्ति चीन को बेचने जा रही है. उन्होंने कहा, इस तरह की सभी खबरें झूठी हैं, जिसमें कहा जा रहा है कि जांबिया की सरकार स्टेट ब्रॉडकास्ट, केनेथ कोंडा एयरपोर्ट और जेस्को को चीन को बेचने जा रही है. उन्होंने कहा, ZNBC और केके एयरपोर्ट अब तक पूरे भी नहीं हुए हैं, ऐसे में उन्हें कैसे किसी को बेचा जा सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *