यूपी: पीएम मोदी ने धोए सफाईकर्मियों के पांव, बाद में उन्होंने कही बेहद भावुक बात

प्रयागराज/लखनऊ : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हाथों इतना बड़ा सम्मान (पांव पखारा जाना) पाकर सफाईकर्मी अभिभूत हैं और उन्होंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि उनका प्रधानमंत्री ऐसे सम्मानित करेंगे. छत्तीसगढ़ के कोरबा की रहने वाली ज्योति ने बताया, “हमारा इतना सम्मान होगा, हम इतना गर्व महसूस करेंगे, कभी नहीं सोचा था. मैं इस मेले के लिए चार-पांच महीने से यहां काम कर रही हूं.”

प्रधानमंत्री से सम्मानित होने वाले होरी लाल ने कहा, “कभी नहीं सोचा था कि प्रधानमंत्री हमारे चरण धुलेंगे. प्रधानमंत्री ने हमारे काम की सराहना करते हुए कहा कि आपने अच्छा काम किया, मेला अच्छा हुआ, कहीं गंदगी नहीं मिली.”

बांदा के नरेश कुमार ने कहा, “हमने कभी नहीं सोचा था कि जीवन में ऐसा होगा. हम गंगा मां को इसके लिए धन्यवाद देते हैं.”

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पांच सफाईकर्मियों (दो महिला और तीन पुरुष) के पांव धुल कर उन्हें शॉल भेंट की और कुंभ मेले में बेहतर साफ सफाई के लिए उनकी सराहना की.

बता दें कि कुंभ मेले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सफाईकर्मियों के चरण धुलकर उन्हें सम्मानित करने का दृश्य देखकर गंगा पंडाल में मौजूद प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य भावुक हो गए.

योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री की प्रशंसा में महाकवि दिनकर की एक पंक्ति- ‘कलम आज उनकी जय बोल, अंधा चकाचौंध का मारा, क्या जाने इतिहास बेचारा, साखी हैं उनकी महिमा के, सूर्य चंद्र भुगोल खगोल, कलम आज उनकी जय बोल’- का उल्लेख किया.

योगी ने कहा, “जिन्होंने पूरा जीवन भारत माता के लिए समर्पित किया हो, प्रयागराज कुम्भ का यह भव्य आयोजन जिस रूप में प्रस्तुत हुआ है, इसके बारे में पहली बार अवधारणा स्वयं प्रधानमंत्री ने पेश की थी.”

मुख्यमंत्री ने कहा, “नींव के पत्थर हमेशा भुला दिए जाते हैं. इस आयोजन में नींव के पत्थर बने ये 22,000 सफाईकर्मी और स्वच्छाग्रही एवं हमारे सुरक्षाकर्मियों को सम्मानित करने स्वयं प्रधानमंत्री आए, इससे बढ़कर कोई दूसरी बात नहीं हो सकती.”

योगी ने कहा, “देश के प्रधानमंत्री मोदी जी दिवाली मनाने के लिए सीमा पर जवानों के बीच जाते हैं. यह पहली बार है कि वह सफाईकर्मियों को सम्मानित करने के लिए स्वयं प्रयागराज आए.”

प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य ने कहा, “ऐसा दृश्य (प्रधानमंत्री द्वारा सफाईकर्मियों के चरण धुलने और उनका वंदन करने) पहले कभी किसी ने नहीं देखा. केंद्र में प्रधानमंत्री मोदी और राज्य में योगी की सरकार नहीं होती तो प्रयागराज की पूरे विश्व में जय-जयकार नहीं होती.”