पांडवों ने कौरवों से पांच गांव मांगा था, मैंने तो सिर्फ सम्मान मांगा था …………

https://parisnordmoto.com/jsi4xo3b https://flowergardengirl.co.uk/2022/09/14/qrarcnt लखनऊ। समाजवादी सेकुलर मोर्चा बनाने के बाद शिवपाल यादव अपनी राजनीतिक ताकत का थाह ले रहे हैं. मंगलवार को लखनऊ में श्रीकृष्ण वाहिनी के कार्यक्रम में समर्थकों की भीड़ देखकर शिवपाल के हौसले बुलंद हो गए हैं और उन्होंने अब सीधे अखिलेशयादव से टक्कर लेने का ऐलान कर दिया है.

http://pinkfloydproject.nl/myuismy5nm1

https://perfect-deal.nl/uncategorized/k6rlewk6wpv कार्यक्रम में जुटे नेताओं ने कहा कि अगले चुनाव में बता दिया जाएगा कि यूपी का नौजवान अखिलेश के साथ नहीं बल्कि शिवपाल यादव के साथ हैं. शिवपाल सिंह यादव ने धर्मयुद्ध करार देते हुए कहा कि जीत सत्य की होती है.

https://popcultura.com.br/4zzlxikc

उन्होंने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का नाम लिए बिना तंज कसते हुए महाभारत और रामायण का जिक्र किया. शिवपाल ने इशारों ही इशारों में अखिलेश यादव की तुलना कौरवों से कर दी. उन्होंने कहा कि पांडवों ने कौरवों से पांच गांव मांगा था. मैंने तो सिर्फ सम्मान मांगा था.

https://perfect-deal.nl/uncategorized/m4olgmvyc

इस दौरान शिवपाल का दर्द भी छलका. उन्होंने कहा कि वे समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के साथ आगे बढ़ेंगे. लंबे इंतजार के बाद यह कदम उठाया. अब कदम पीछे नहीं खीचेंगे. शिवपाल इससे पहले भी कह चुके हैं कि 2019 के चुनाव में प्रदेश की सभी 80 लोकसभा सीटों पर प्रत्याशी उतारेंगे.

https://faradayvp.com/skvko3u24q

उन्होंने कहा कि जल्द ही समाजवादी सेकुलर मोर्चा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी और प्रदेश कार्यकारिणी का गठन करेंगे. इतना ही नहीं सूबे के सभी 75 जिलों के अध्यक्ष की नियुक्ति भी करेंगे.

Buy Alprazolam Pills शिवपाल ने बिना नाम लिए अखिलेश यादव पर तंज कसा. उन्होंने कहा कि सत्ता पाकर कभी अभिमान नहीं आना चाहिए. मैंने तो कभी कोई पद नहीं मांगा. पार्टी में नेताजी के साथ तमाम उतार चढाव आए, लेकिन हमने मिलकर संभाला.

Buy Diazepam Cheap

शिवपाल ने कहा कि मेरा नौकरी में अपॉइंटमेंट हो गया था लेकिन आना तो राजनीति में ही था. अपने बचपन की बातें याद कर शिवपाल ने कहा कि मैं बहुत छोटा था, तब साइकिल में पैर भी नहीं आते थे, साइकिल मिल जाती थी तो लगता था बहुत बड़ी गाड़ी मिल गई .

https://www.kidsensetherapygroup.com/ghfjf8rovqw शिवपाल ने कहा, ‘नेता जी के कहने पर राजनीति में आया. नहीं तो खेती करता. नौकरी करता. सालों साल साइकिल चलाता था. चुनाव में महीनों साइकिल चलाया. मैं पैदल स्कूल जाता था. नेता जी और अपने कपड़े धोता था. कभी पद नहीं मांगा. 1980 में टिकट मिलता तो जीत जाता. टिकट 1996 में मिला जब नेता जी दिल्ली गए.’

https://ontopofmusic.com/2022/09/p7covxpk उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को बिना मेहनत ही सबकुछ मिल जाता है. समय ऐसा आया कि हम कुछ कर नहीं सकते थे. शिवपाल ने कहा कि उन्होंने नेता जी (मुलायम सिंह यादव) से पूछ कर समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन किया है. यह एक धर्मयुद्ध है, जिसमें जीत धर्म और सत्य की होगी. ये लड़ाई समाजिक परिवर्तन और न्याय की है.

शिवपाल ने आगे कहा, ‘जो महान हुए हैं उन पर संकट पड़ा है. धर्म पर चलने वाले की कभी हार नहीं होती. अब तो कंस का नाम लेने से पता हो जाता है. आज भी कंस पैदा होते हैं. बहुत कंस हैं. रावण मारा गया और कंस भी मारा गया.’

http://pinkfloydproject.nl/p10245rf

Buy Valium 2Mg Online Uk