LIVE: देश का इंतजार हुआ खत्‍म, 2 दिन बाद पा‍कि‍स्‍तान से लौटे अभ‍िनंदन, द‍िल्‍ली रवाना

नई दिल्‍ली। करोड़ों देश वासियों का इंतजार आख‍िरकार खत्‍म हो गया. भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की पाकिस्तान से देश में सकुशल वापसी हो गई. इससे पहले पाकिस्‍तान ने विंग कमांडर अभिनंदन को को हैंडओवर करने में दो बार समय में परिवर्तन किया. इसी कारण उनके भारत लौटने में देरी हुई. काले कोट और व्‍हाइट शर्ट में विंग कमांडर अभ‍िनंदन बॉर्डर पर पहुंचे.

अटारी बॉर्डर आने के बाद विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान दिल्‍ली के लिए रवाना हो गए.

View image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter

ANI

@ANI

IAF Wing Commander returns to India.

833 people are talking about this

इससे पहले अभिनंदन की स्वदेश वापसी पर पूरे देश की निगाहें वाघा बॉर्डर पर लगी हुई थीं. पहले यह खबर आ रही थी कि विंग कमांडर अभिनंदन को दोपहर बाद रिहा किया जायेगा, लेकिन दिन ढलने और रात आने के साथ लोगों का इंतजार बढ़ता गया . अभिनंदन को बुधवार को पाकिस्तान ने पकड़ लिया था. रात ढलने के साथ लोग सांसें थाम कर पायलट अभिनंदन की एक झलक का इंतजार करते रहे लेकिन ऐसा समय के साथ उनकी प्रतीक्षा बढ़ती गयी. रात 9 बजे ये इंतजार खत्‍म हुआ.

View image on TwitterView image on Twitter

ANI

@ANI

IAF Wing Commander at Wagah-Attari border, to cross border soon to enter India.

760 people are talking about this

इसके बाद पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपनी संसद में कहा था कि वह शांति के संदेश के तौर पर भारतीय पायलट को रिहा कर रहे हैं. विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तान द्वारा पकड़े जाने का मुद्दा दोनों देशों के बीच तनाव का केंद्र बिन्दु बना हुआ है.  देशभर में अलग अलग स्थानों पर देशभक्ति का रंग सहज ही देखा जा सकता है. अहमदाबाद में गरबा के दृश्य देखे गए तो बेंगलूरू में लोग नृत्य करते मिले. पुरी में बालू की कलाकृतियां तैयार की जा रही थी, वहीं अलग अलग स्थानों पर यज्ञ भी आयोजित किये गए. अटारी बाघा बोर्डर के पास चेकपोस्ट पर सुबह से ही लोग तिरंगा लिये जमा थे . उनमें से अनेक अपना चेहरा तिरंगे के रंग से रंगे थे और विंग कमांडर अभिनंदन की सुरक्षित वापसी के समर्थन में नारे भी लगा रहे थे.

एक समय अटारी के पास कारों का काफिला देखकर लोग काफी उत्साहित हो गये थे . उनके मन में यह उत्सुकता थी कि उनमें से एक कार में अभिनंदन है और क्या वे मीडिया को संबोधित करेंगे . लेकिन कोई वास्तविक उत्तर नहीं मिल रहा था . देर शाम तक यह पूरी तरह से साफ नहीं हो रहा था कि उन्हें किस प्रकार से सौंपा जायेगा .

इस बीच भारत ने वाघा-अटारी सीमा पर बिटींग द रिट्रीट समारोह को आज स्थगित कर दिया क्योंकि अनुमानित 20 हजार लोग वहां एकत्र हो गए थे. अंधेरा बढने के साथ अटारी में लोगों की संख्या कम हुई लेकिन पत्रकार वहां डटे रहे . अभिनंदन की स्वदेश वापसी को लेकर प्रतीक्षा काफी लम्बी होता जा रही है.