PAK का दावा- हमारे इलाके में घुस रही थी भारतीय पनडुब्बी, जारी किया वीडियो

नई दिल्ली। बॉर्डर पर तनाव के बीच पाकिस्तान की नौसेना ने दावा किया है कि उसने सोमवार को भारतीय पनडुब्बी को अपने जल क्षेत्र में घुसने की कोशिश को नाकाम कर दिया. नौसेना के प्रवक्ता ने दावा किया कि 2016 के बाद यह दूसरी घटना है जब किसी भारतीय पनडुब्बी ने पाकिस्तान के जल क्षेत्र में घुसने की कोशिश की. पाकिस्तान की तरफ यह दावा तब किया गया है जब भारतीय नौसेना के प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा ने मंगलवार को समुद्र के रास्ते आतंकी घुसपैठ की आशंका जाहिर की थी.

पाकिस्तानी नौ-सेना के प्रवक्ता ने एक वीडियो जारी कर बताया कि शांति कायम रखने के लिए नौसेना ने भारतीय पनडुब्बी को निशाना नहीं बनाया. इससे पता चलता है कि हम शांति चाहते हैं. इस घटना से सीख लेकर भारत को भी शांति को लेकर अपना झुकाव दिखाना चाहिए. पाक नौसेना द्वारा जारी इस वीडियो में एक पनडुब्बी का ऊपरी हिस्सा दिखाया जा रहा है जिसके भारतीय होने का दावा किया जा रहा है. यह वीडियो 4 फरवरी, रात 8:30 बजे के करीब रिकॉर्ड किया गया है.

Shiv Aroor

@ShivAroor

🇵🇰Navy releases footage to local media claiming it has ‘detected’ @IndianNavy submarine INS Kalvari. No word from 🇮🇳navy yet, but if video/coordinates are authentic, then Indian Navy likely *wants* Pak to know that 🇮🇳attack submarine/s are lurking 200 km from Karachi.

View image on TwitterView image on Twitter

Shiv Aroor

@ShivAroor

*IF THE VIDEO IS AUTHENTIC IN ALL RESPECTS*, then it was recorded at night on Mar 4 in international waters. Infrared video likely recorded from a Pak maritime patrol aircraft. The @IndianNavy appears to be flexing muscle. No official word yet, folks. Will update on this thread. pic.twitter.com/KCEG2R3h0S

Embedded video

253 people are talking about this
प्रवक्ता ने बताया कि भारत की कोशिश को नाकाम कर पाकिस्तानी नौसेना ने साबित किया है कि वो अपनी समुद्री सीमाओं की रक्षा करने में सक्षम है. और किसी भी तरह के आक्रामकता का जवाब देने के लिए तैयार है. हालांकि पाकिस्तान के दावे पर भारतीय नौसेना का कोई जवाब नहीं आया है. लेकिन अगर यह दावा सही भी है तो हो सकता है कि भारतीय नौसेना पाकिस्तान को बताना चाह रही हो कि वो करांची से 200 किलोमीटर दूर मुस्तैद है.

इससे पहले भारतीय वायुसेना के प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा ने दावा किया था कि खुफिया रिपोर्ट के अनुसार आतंकी समुद्र के रास्ते भारत में घुसने की फिराक में हैं और बड़ी वारदात के लिए आतंकियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है.  उन्होंने कहा कि चरमपंथी गुट आतंकी हमले की साजिश रहे हैं, लेकिन उन्हें मदद ऐसे देश से मिल रही है जिसका मकसद भारत को अस्थिर रखना है.

उल्लेखनीय है कि पुलवामा हमले के बाद भारतीय वायुसेना की जवाबी कार्रवाई के बाद दोनों देशों में तनाव कायम है. वायुसेना की एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान की वायुसेना ने भारतीय वायु क्षेत्र में घुसने का प्रयास किया था और कुछ सैन्य कैंप को निशाना बनाने की कोशिश भी की. हालांकि, भारतीय वायुसेना ने इसका मुंहतोड़ जवाब दिया जिसमें पाकिस्तान का एक एफ-16 लड़ाकू विमान मार गिराया गया जबकि भारत का मिग-21 क्षतिग्रस्त हो गया.

14 फरवरी को पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के एक आत्मघाती हमलावर ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा  में एक विस्फोटक से भरे वाहन से सुरक्षाबलों के काफिले की एक बस को टक्कर मार दी, जिसमें 40 जवान शहीद हो गए. इसके बाद भारत ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में जैश के ट्रेनिंग सेंटर पर एयर स्ट्राइक की थी.