मेहुल चोकसी पर नया खुलासा, 3,250 करोड़ रुपये दूसरे देशों में भेजा: ईडी

नई दिल्ली। पीएनबी घोटाले में वांछित भगोड़े आभूषण कारोबारी मेहुल चोकसी ने पीएनबी की मुबंई शाखा से धोखाधड़ी के जरिए हासिल 3,250 करोड़ रुपये की राशि देश से बाहर भेज दी थी. उसकी दुकान से बेचे जाने वाली बेशकीमती धातुओं के ज्यादा कीमतों पर बेचने के काम में लगा था. यह खुलासा प्रवर्तन निदेशालय की जांच में हुआ है. कारोबारी ने हालांकि इन आरोपों को खारिज किया है.

नीरव मोदी भी मामले में आरोपी
दो अरब डॉलर (करीब 13,000 करोड़) की कथित बैंक धोखाधड़ी की जांच कर रही एजेंसी ने कहा है कि चोकसी ने रुपयों की हेराफेरी और अपने निजी इस्तेमाल के लिए धन को देश के बाहर भेजने के वास्ते ‘कुछ खोखा कंपनियों’ का इस्तेमाल किया. इस मामले में चोकसी के भांजा नीरव मोदी भी आरोपी है.

चोकसी ने कहा कि पीएनबी केस में मुझे बलि का बकरा बनाया जा रहा है. भारत विजय माल्‍या और ललित मोदी के ब्रिटेन से प्रत्‍यर्पण की कोशिश में लगा है. दोनों ही भगोड़ा कानून के तहत भारत में वांछित हैं. पीएनबी घोटाले पर चोकसी ने कहा- मुझे इस केस की ज्‍यादा जानकारी नहीं है क्‍योंकि बैंकरों से कंपनी के अफसर बातचीत करते थे. चोकसी ने यह भी कहा कि वह पीएनबी घोटाले में जरा भी भरपाई नहीं कर पाएगा क्‍योंकि वह कंगाल हो चुका है. उसकी सारी संपत्ति जब्‍त हो चुकी है.

प्रवर्तन निदेशालय ने अपने आरोपपत्र में कहा है कि चोकसी ने ऋण का 5.612 करोड़ अमेरिकी डॉलर नीरव मोदी और 5 करोड़ डॉलर मोदी के पिता दीपक मोदी को भेजा. हालांकि चोकसी ने कुछ मीडिया संगठनों से बातचीत में ईडी के आरोपों को ‘झूठा और आधारहीन’ करार दिया है. उसने आरोप लगाया कि केंद्रीय एजेंसी ने उनकी संपत्तियों को ‘गैर-कानूनी’ तरीके से कुर्क किया है.

चोकसी बोला- गलत ढंंग से जब्‍त की मेरी संपत्ति
मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) ने एक नए वीडियो में कहा कि प्रवर्तन निदेशाल के सभी आरोप झूठे और आधारहीन हैं. मेहुल चोकसी ने एक वीडियो जारी कर कहा कि ईडी ने गलत तरीके से मेरी संपत्ति को जब्त किया है. अरबों रुपये के पीएनबी घोटाले के सामने आने के बाद यह पहला मौका है जब मेहुल चोकसी ने एक वीडियो के माध्यम से अपना पक्ष रखा है और ईडी के आरोपों को गलत करार दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *