VIDEO में बोला मेहुल चोकसी- असली ‘गुनहगार’ तो कोई और है फिर क्‍यों बंद करवा दी मेरी कंपनी?

नई दिल्‍ली। पीएनबी घोटाले में आरोपी मेहुल चोकसी इस समय एंटीगुआ में है. उसने बुधवार को एक और वीडियो जारी कर खुद को बेगुनाह बताया है. उसने क‍हा कि दो साल से देश में काफी राजनीतिक दबाव है. चुनाव हो रहे हैं और सरकार पर भी अच्‍छा प्रदर्शन करने का दबाव है. पीएम का मैं काफी सम्‍मान करता हूं, लेकिन यह भी सवाल है कि आखिर क्‍यों मुझ पर और मेरी कंपनी पर इतना दबाव डाला जा रहा है. 7 दिन में 6000 कर्मचारी बेरोजगार हो गए. एक हफ्ते में मेरी कंपनी बंद हो गई, जो बीते 50 साल से देश की अग्रणी कंपनी थी. जांच में समय लगता है. अगर आप सीबीआई की रिपोर्ट पर नजर डालें तो पाएंगे कि उसमें पीएनबी का फॉल्‍ट दिखाया गया है. मैं हैरान हूं कि भारत के इतिहास में पहली बार कोई कंपनी 7 दिन में बंद हो गई. जिसने सही में अपराध किया है उसे वापस भारत लाया जाना चाहिए. मुझे क्‍यों मजबूर किया जा रहा है. मुझे बलि का बकरा क्‍यों बनाया जा रहा है वह भी सिर्फ इसलिए कि यह एक छोटा देश है और वह यह सोचते हैं कि मैं सॉफ्ट टार्गेट हूं.

3250 करोड़ रुपए बाहर भेजे चोकसी ने
इस बीच, ईडी की जांच में खुलासा हुआ है कि चोकसी ने पीएनबी की मुबंई शाखा से धोखाधड़ी के जरिए हासिल 3,250 करोड़ रुपये की राशि देश से बाहर भेज दी थी. उसकी दुकान से बेचे जाने वाली बेशकीमती धातुओं के ज्यादा कीमतों पर बेचने के काम में लगा था. यह खुलासा प्रवर्तन निदेशालय की जांच में हुआ है. कारोबारी ने हालांकि इन आरोपों को खारिज किया. दो अरब डॉलर (करीब 13,000 करोड़) की कथित बैंक धोखाधड़ी की जांच कर रही एजेंसी ने कहा है कि चोकसी ने रुपयों की हेराफेरी और अपने निजी इस्तेमाल के लिए धन को देश के बाहर भेजने के वास्ते ‘कुछ खोखा कंपनियों’ का इस्तेमाल किया. इस मामले में चोकसी के भांजा नीरव मोदी भी आरोपी है.

विजय माल्‍या और ललित मोदी हैं असली गुनहगार
दो दिन पहले एक अखबार को दिए इंटरव्‍यू में चोकसी ने कहा था कि पीएनबी केस में मुझे बलि का बकरा बनाया जा रहा है. भारत विजय माल्‍या और ललित मोदी के ब्रिटेन से प्रत्‍यर्पण की कोशिश में लगा है. दोनों ही भगोड़ा कानून के तहत भारत में वांछित हैं. पीएनबी घोटाले पर चोकसी ने कहा- मुझे इस केस की ज्‍यादा जानकारी नहीं है क्‍योंकि बैंकरों से कंपनी के अफसर बातचीत करते थे. चोकसी ने यह भी कहा कि वह पीएनबी घोटाले में जरा भी भरपाई नहीं कर पाएगा क्‍योंकि वह कंगाल हो चुका है. उसकी सारी संपत्ति जब्‍त हो चुकी है.

नीरव मोदी ने पिता को भेज थे 5 करोड़ डॉलर
प्रवर्तन निदेशालय ने आरोपपत्र में कहा कि चोकसी ने ऋण का 5.612 करोड़ अमेरिकी डॉलर नीरव मोदी और 5 करोड़ डॉलर मोदी के पिता दीपक मोदी को भेजा. हालांकि चोकसी ने कुछ मीडिया संगठनों से बातचीत में ईडी के आरोपों को ‘झूठा और आधारहीन’ करार दिया है. उसने आरोप लगाया कि केंद्रीय एजेंसी ने उनकी संपत्तियों को ‘गैर-कानूनी’ तरीके से कुर्क किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *