माल्या विवाद में कूदा भगोड़ा ललित मोदी, कहा- अरुण जेटली को झूठ बोलने की आदत

नई दिल्ली।  भारत से फरार शराब कारोबारी विजय माल्या के बाद अब एक और भगोड़े ललित मोदी ने वित्त मंत्री अरुण जेटली को लेकर ट्वीट किया है. माल्या के दावों को सही ठहराते हुए आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी ने जेटली की तुलना सांप से की. उन्होंने कहा, ‘अरुण जेटली को झूठ बोलने की आदत है.’

ललित मोदी ने विजय माल्या से अरुण जेटली की कथित मुलाकात पर कहा कि जेटली इस तरह का इनकार क्यों कर रहे हैं जब कई लोग इस बात को जानते हैं कि उसने मुलाकात की थी, जो वहां मौजूद थे. अरुण जेटली को झूठ बोलने की आदत है. आप एक सांप (चिह्न) से क्या उम्मीद कर सकते हैं. उन्होंने अपने ट्वीट में अरुण जेटली और विजय माल्या को भी टैग किया है.

Lalit Kumar Modi

@LalitKModi

The denial by @arunjaitley whether he met @TheVijayMallya just before he left is completely . Let him just accept he did. Why such a when a lot of people know he met and who else was present. @arunjaitley it’s become a to . What else can u from a🐍

पूर्व आईपीएल कमिश्नर ललित मोदी पर आईपीएल के ठेके देने में रिश्वत लेने, मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप हैं. वह भारत से 2010 से फरार है और उसके लंदन में होने की खबर आती रही है.

आपको बता दें कि कल भगोड़े विजय माल्या ने लंदन में दावा किया था कि वो भारत छोड़ने से पहले सेटलमेंट के लिए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मिला था. उसके दावों के बाद से भारतीय राजनीति में भूचाल मचा हुआ है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा है कि इस मामले में उच्चस्तरीय जांच कराएं. उन्होंने कहा कि जांच पूरी होने तक अरुण जेटली पद से इस्तीफा दें.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, “इससे पता चलता है कि साफ तौर पर सांठगांठ थी. जेटली को माल्या से मुलाकात की बात कबूल करनी चाहिए और माल्या के खुलासे के बाद उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए.”

राहुल गांधी ने कहा, “वित्तमंत्री एक भगोड़े (माल्या) से बात करते हैं और भगोड़ा वित्तमंत्री से कहता है कि ‘मैं लंदन जा रहा हूं.’ फिर भी वित्तमंत्री सीबीआई, ईडी या पुलिस को नहीं बताते हैं. क्यों? क्या ऐसा करने के लिए उन पर ऊपर से दबाव था?” उन्होंने कहा, “वित्तमंत्री ने माल्या को देश छोड़ने के लिए खुला रास्ता दे दिया. अब सच्चाई देश के सामने आ जाने के बाद जेटली तुरंत इस्तीफा दें.” कांग्रेस का कहना है कि केंद्र सरकार के सहयोग से बैंकों को करोड़ों का चूना लगाकर विजय माल्या, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी फरार है.

वहीं माल्या के दावों को कल केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने सिरे से खारिज कर दिया था. उन्होंने कहा, “मेरे संज्ञान में यह बात सामने आई है कि विजय माल्या ने सेटलमेंट ऑफर के साथ मुझसे मिलने की बात कही है. बयान पूरी तरह गलत है, क्योंकि यह सच्चाई को सामने नहीं रखता है.” जेटली ने कहा कि उन्होंने 2014 के बाद मुलाकात के लिए माल्या को कभी समय नहीं दिया और “मुझसे मुलाकात का प्रश्न ही नहीं उठता.”

वहीं आज बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने आज दावा किया कि कुछ दस्तावेज हैं, जो दिखाते हैं कि कैसे रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) और सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह के नेतृत्व में यूपीए ने किंगफिशर एयरलाइन के साथ कई फायदे दिलाने वाले सौदे किए.

उन्होंने कहा, “इन दस्तावेजों की श्रृंखला से साथ यह पता चलता है कि किंगफिशर एयरलाइन का मालिकाना हक माल्या के पास नहीं, बल्कि प्रॉक्सी के जरिए गांधी परिवार के पास था.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *