आयुष मंत्रालय के अवर सचिव दस लाख रिश्वत लेते सीबीआई जाल में फंसे

नई दिल्ली। सीबीआई ने आयुष मंत्रालय में कार्यरत एक अवर सचिव को दस लाख रुपये रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया है। अवर सचिव का नाम आरके खत्री है। सूत्रों का कहना है कि उनकी गिरफ्तारी के बाद उनके आवास तथा कार्यालय पर छापेमारी की गई और आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद किए हैं। सूत्रों ने बताया कि अवर सचिव आरके खत्री आयुष मंत्रालय के अलावा इंडियन मेडिसन एंड फार्मास्यूटिकल कॉरपोरशन लिमिटेड जो कि आयुष मंत्रालय के अधीन है उसका भी अतिरिक्त कार्यभार देख रहे हैं। उनके खिलाफ सीबीआई मुख्यालय स्थित भ्रष्टाचार निरोधक शाखा को शिकायत मिली थी कि वह एक सी एंड एफ एजेंट के बिलों का भुगतान करने के एवज में दस लाख रुपये रिश्वत मांग रहे हैं। इस शिकायत पर सीबीआई टीम ने शुक्रवार को अवर सचिव को उस समय गिरफ्तार कर लिया जब वह दस लाख रुपये रिश्वत ले रहे थे।

सीबीआई का कहना है कि उनके आवास तथा कार्यालय से जब्त किए गए दस्तावेजों की जांच की जा रही है। इस बाबत अवर सचिव के खिलाफ भ्रष्टाचार के तहत मामला दर्ज किया गया है। गौरतलब है कि सीबीआई ने कोलफील्ड विभाग के एक वरिष्ठ प्रबंधक को रिश्वतखोरी में गिरफ्तार किया है। वह बिलों को पास करने के एवज में प्रतिशत रिश्वत मांग रहे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *