पीएम मोदी आज करेंगे ‘स्वच्छता ही सेवा आंदोलन’ का आगाज, गांधी जयंती तक चलेगा अभियान

नई दिल्‍ली।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज यानी 15 सितंबर को  देश में स्‍वच्‍छता अभियान पार्ट-2 की शुरुआत करेंगे. वह शनिवार को सुबह करीब 9:30 बजे ‘स्वच्छता ही सेवा आंदोलन’ का शुभारंभ करेंगे. उन्‍होंने इसकी घोषणा 12 सितंबर को अपने ट्वीट में की थी. उन्‍होंने इस आंदोलन को दो अक्टूबर को महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के अवसर पर उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि बताया. यह अभियान दो अक्‍टूबर को गांधी जयंती तक चलाया जाना है.

 

लोगों से अभियान में जुड़ने की अपील की
प्रधानमंत्री ने अपने वीडियो संदेश में सभी से ‘स्वच्छता ही सेवा’ आंदोलन का हिस्सा बनने और ‘स्वच्छ भारत’ बनाने के प्रयासों को मजबूत करने का आग्रह किया.

 

पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में कहा, ‘15 सितंबर को सुबह 9.30 बजे हम एक साथ आएंगे और ‘स्वच्छता ही सेवा आंदोलन’ की शुरुआत करेंगे.’ उन्होंने कहा, ‘मैं उन लोगों के साथ बातचीत करना चाहता हूं जिन्होंने स्वच्छ भारत मिशन को मजबूत करने के लिए जमीन पर दृढ़ता से काम किया है.’

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस बार दो अक्तूबर को पूज्य बापू की जयंती का महत्व इसलिए भी है क्योंकि यह उनकी 150वीं जयंती का अवसर होगा. साथ ही स्वच्छ भारत अभियान को 2 अक्टूबर को पूरे चार साल हो जाएंगे.

 

स्‍वच्‍छ भारत के लिए काम करने वालों को सलाम
पीएम मोदी का कहना है कि चार साल पहले ही 2 अक्टूबर को गांधी जी की जयंती के अवसर पर स्वच्छ भारत अभियान की शुरूआत की गई थी.

राजस्थान: स्वच्छता मिशन के धन के इस्तेमाल में फेल हुआ स्थानीय निकाय

उन्होंने कहा, ‘स्वच्छ भारत मिशन ने स्वच्छ भारत के बापू के सपने को पूरा करने के उद्देश्य से एक ऐतिहासिक जन आंदोलन के 4 साल पूरे किए हैं. मैं उन सभी को सलाम करता हूं जिन्होंने स्वच्छ भारत के लिए काम किया. सवा सौ करोड़ देशवासियों ने मिलकर पूज्य बापू के सपने को पूरा करने के लिए एक जन आंदोलन प्रारंभ किया.’

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि बापू का ही आशीर्वाद है कि बीते 4 साल में सभी भारतवासी स्वच्छ क्रांति के दूत बन चुके हैं. देश के हर कोने में समाज के हर वर्ग के लोगों ने स्वच्छ भारत के उनके सपने को पूरे करने के लिए जो भी कर सकते हैं वह सब किया.

90 फीसदी भारतीयों को शौचालय उपलब्‍ध : पीएम
उन्होंने सबकी भागीदारी की भी प्रशंसा की और कहा कि देशभर में 8.5 करोड़ शौचालय बनकर तैयार हो गए हैं. पीएम मोदी ने जोर देकर कहा था कि आज 90 फीसदी भारतीयों को शौचालय की सुविधा उपलब्ध है. इससे पहले केवल 40 फीसदी लोगों के पास ये सुविधा थी. आज भारत के सवा चार लाख से भी अधिक गांव, 430 जिले और 2800 नगर, शहर और कस्बे और 19 राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेश खुले में शौच से मुक्त घोषित हो चुके हैं.

Year Ender 2017: सुर्खियों में रहा स्वच्छता अभियान, 8 राज्य 'खुले में शौच' से मुक्त घोषित

अमिताभ समेत कई लोगों का आभार जताया
उन्होंने कहा कि विश्व स्वस्थ्य संगठन ने शौचालय के उपयोग से 3 लाख मासूमों का जीवन बचने की संभावना जताई है. पीएम मोदी ने बुधवार को कहा कि 15 सितंबर से 2 अक्टूबर तक बहुत ही विशाल स्तर पर ‘स्वच्छता ही सेवा’ कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा.

 

उन्होंने बाद में सिलसिलेवार ट्वीट कर स्वच्छता अभियान में सहयोग करने को लेकर बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन, अक्षय कुमार, आध्यात्तिक गुरु माता अमृतानंदमयी सहित अन्य लोगों का शुक्रिया अदा किया.

प्रधानमंत्री ने नागरिकों को लिखा पत्र
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को ‘स्वच्छता ही सेवा मिशन’’ की शुरूआत करने से पहले समाज के विभिन्न वर्गों के करीब 2000 लोगों को पत्र लिख कर इस सफाई अभियान का हिस्सा बनने के लिए आमंत्रित किया है. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि जिन लोगों को आमंत्रित किया गया है उनमें पूर्व न्यायाधीश, अवकाश प्राप्त अधिकारी, वीरता पुरस्कार के विजेता तथा राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों के पदक विजेता शामिल हैं.

शख्सियतों से मांगा समर्थन
सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों, उप मुख्यमंत्रियों, राज्यपालों और उप राज्यपालों को भी व्यक्तिगत रूप से यह पत्र प्राप्त हुआ है. कुछ प्रमुख धार्मिक नेताओं, फिल्म हस्तियों, खिलाड़ियों, लेखकों, पत्रकारों को भी प्रधानमंत्री तरफ से यह पत्र मिला है. अपने पत्र में प्रधानमंत्री ने स्वच्छ भारत अभियान को एक जन आंदोलन बताया है जो अब पूरे देश में स्वच्छता क्रांति का रूप ले चुका है.

शनिवार को प्रधानमंत्री साफ सफाई से जुड़े लोगों से बातचीत करेंगे इसके बाद स्वच्छता गतिविधियां आरंभ होंगी. उन्होंने जिन लोगों को पत्र लिखा है, उनसे कहा है कि वह इस अभियान का समर्थन करें और दूसरों के लिए प्रेरणास्रोत बनें.

वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये करेंगे बातचीत
‘स्वच्छता ही सेवा मिशन’ पहले से ही समाज के सभी वर्गों के लोगों के बीच जबरदस्त उत्साह पैदा कर रहा है. श्री श्री रविशंकर, अक्षय कुमार, अमिताभ बच्चन और अन्य ने इस आंदोलन को अपना समर्थन दिया है. एक पखवाड़े तक चलने वाले इस कार्यक्रम की शुरुआत के दौरान प्रधानमंत्री वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए देश के 18 स्थानों पर समाज के विभिन्न वर्गों के लेागों से बातचीत करेंगे.

MP: आदिवासी महिला ने गहने गिरवी रख बनवाया शौचालय

प्रधानमंत्री जिन लोगों के साथ बातचती करेंगे उनमें स्कूली बच्चे, जवान, धार्मिक नेता, दुग्ध एवं कृषि सहकारिता के सदस्य, पत्रकार, स्थानीय सरकार के प्रतिनिधि, रेलवे कर्मचारी, स्वयं सहायता समूह और स्वच्छाग्रही शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *