मवेशियों को बचाने के लिए आतंकियों से भिड़ गए गांववाले, मच गया खूनी संंग्राम, 8 की मौत

कानो।  बोको हराम के बंदूकधारियों ने अशांत पूर्वोत्तर नाइजीरिया के दो गांवों में मवेशी चुराने की कोशिश में आठ लोगों की हत्या कर दी. बोको हराम के जिहादियों ने मवेशी चुराने के लिए बोर्नो राज्य के मोदू अजीरी और बुलामा कयीरी गांवों को निशाना बनाया था, लेकिन ग्रामीण अपने पशुओं को बचाने के लिए उनसे भिड़ गए.

स्थानीय मिलिशिया के प्रवक्ता बुनू बुंकर ने ‘एएफपी’ से कहा, ‘‘ग्रामीणों के हमलावरों को रोकने के प्रयास में लड़ाई बढ़ गई.’’  उनके अनुसार , ‘‘लड़ाई में आठ लोगों की मौत हो गई और चार अन्य लोग घायल हुए हैं.’’ आतंकवादियों ने  उन गांववालों पर गोलियां चलाई और वो छुरे, धनुष तथा तीर, लाठी और तलवार आदि हथियारों से लैस गांव में जानवरों को लूटने पहुंचे थे.

मीलिशिया नेता बाबाकुरा कोलो के अनुसार, ‘‘स्थानीय ग्रामीण बोको हराम आतंकवादियों का मुकाबला नहीं कर पाए, जो (आतंकवादी) बंदूकों के साथ आए थे.’’ उन्होंने भी इतने ही लोगों के मारे जाने की पुष्टि की. हमले के बाद जिहादी सभी जानवरों को लूट कर चले गये.

बोको हरामलम्बे समय से इस तरह की वारदातों को देता हैं अंजाम 
नाइजीरिया में लम्बे समय से आतंरिक गृहयुद्ध चल रहा हैं. इस्लामिक अतिवाद विचारधारा वाला संगठन बोको हराम लम्बे समय से वहां इस्लामिक सत्ता को स्थापित करने के लिए संघर्ष कर रहा हैं.

लूट,अपहरण,जबरन धर्म परिवर्तन करने का हैं आरोप 
बोको हराम लूट,अपहरण,जबरन धर्म परिवर्तन की वारदातों के अलावा लाखों निर्दोष नाइजीरिया के नागरिको की ह्त्या में संलिप्त रहा है. 2014 में बोको हराम के आतंकियों ने 276 ईसाई समुदाय की लड़कियों का अपहरण कर लिया था. अफ्रीका के देश नाइजीरिया में बोको हराम का गठन मोहम्मद युसूफ़ ने 2002 में किया था . बोको हराम की अल-कायदा से भी सम्बन्ध होने की भी बात कहीं जाती है.  इसका आधिकारिक नाम “जमाते एहली सुन्ना लिदावति वल जिहाद”  है जिसका अरबी में मतलब हुआ वैसे लोग जो पैगम्बर मोहम्मद की शिक्षा और उनका जेहाद फैलाने के लिए प्रतिबद्ध होते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *