टेस्ट क्रिकेट में सचिन तेंडुलकर को स्टंपिंग करने वाले एकमात्र विकेटकीपर का संन्यास

लंदन।  एलिस्टेयर कुक और पॉल कॉलिंगवुड के बाद इंग्लैंड के एक और बड़े क्रिकेटर ने सितंबर में संन्यास ले लिया है. इनका नाम जेम्स फोस्टर है. पूर्व विकेटकीपर फोस्टर का करियर ज्यादा लंबा नहीं रहा. इसके बावजूद उनके नाम टेस्ट क्रिकेट में एक अनोखा रिकॉर्ड है. वे दुनिया के एकमात्र विकेटकीपर हैं, जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में सचिन तेंडुलकर को स्टंपिंग किया है.

भारत के खिलाफ खेला पहला टेस्ट
38 साल के फोस्टर ने इंग्लैंड के लिए सात टेस्ट, 11 वनडे और पांच टी-20 मैच खेले हैं. उन्होंने 2001 में 3 अक्टूबर को जिम्बाब्वे के खिलाफ वनडे में डेब्यू किया. इसके तीन महीने बाद भारत के खिलाफ मोहाली में पहला टेस्ट मैच खेला. फोस्टर का वनडे और टेस्ट करियर करीब एक साल का रहा. उन्होंने 2002 के बाद एक भी वनडे व टेस्ट मैच नहीं खेला.

2009 में मिला टी20 टीम में मौका 
फोस्टर की इंटरनेशनल क्रिकेट में सात साल बाद 2009 में वापसी हुई. उनका टी20 करियर 11 दिन का रहा. उन्होंने पांच जून 2009 को नीदरलैंड के खिलाफ पहला वनडे खेला. इसके 10 दिन बाद वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना पांचवां व आखिरी टी20 मैच खेला.

बेंगलुरु टेस्ट में सचिन को किया स्टंपिंग 
जेम्स फोस्टर का टेस्ट करियर सात मैचों का रहा. उन्होंने इन मैचों में 17 कैच लिए और एक स्टंपिंग किया. उन्होंने बेंगलुरू टेस्ट में सचिन तेंडुलकर को एश्ले जाइल्स की गेंद पर स्टंपिंग किया था. सचिन ने आउट होने से पहले 90 रन बना चुके थे. सचिन 200 टेस्ट मैचों के करियर में सिर्फ एक बार स्टंपिंग हुए हैं.

एसेक्स ने नहीं बढ़ाया करार 
माना जा रहा है कि जेम्स फोस्टर ने अपना कॉन्ट्रैक्ट नहीं बढ़ाए जाने के बाद संन्यास लिया है. फोस्टर काउंटी क्रिकेट में एसेक्स की टीम के लिए खेलते थे, पर उसने अगले सीजन के लिए उनका करार नहीं बढ़ाया. इसका मतलब है कि वे मौजूदा सीजन के खत्म होने के बाद किसी भी प्रारुप में क्रिकेट खेलते नहीं दिखेंगे. फोस्टर ने काउंटी की वेबसाइट पर लिखा है, ‘मैंने 19 साल के अपने पेशेवर क्रिकेट खिलाड़ी के सफर का लुत्फ उठाया है. मुझे इस बात का काफी दुख होगा कि मैं अब एसेक्स का खिलाड़ी नहीं रहूंगा.’

भारत के खिलाफ ही हाईएस्ट स्कोर बनाया
फोस्टर टेस्ट में ज्यादा कुछ प्रभाव नहीं छोड़ पाए. खेल के सबसे लंबे प्रारुप में उन्होंने 25.11 की औसत से 226 रन बनाए. उनका टेस्ट क्रिकेट में सबसे बड़ा स्कोर 38 रन है. उन्होंने यह पारी भारत के खिलाफ बेंगलुरू टेस्ट में खेली थी. फोस्टर ने 289 प्रथम श्रेणी मैचों में 36.69 की औसत से 13,761 रन बनाए हैं. फोस्टर संन्यास के बाद कोचिंग में हाथ आजमाना चाहते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *