प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, जितना मैं उनको जानता हूं: बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह

17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्‍मदिन है. इस अवसर पर उनके करीबी और बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अपनी जीवन यात्रा से जुड़े संस्‍मरणों को साझा किया है. इसमें पीएम मोदी के साथ जुड़ाव का जिक्र करते हुए अमित शाह ने उनकी विलक्षण खूबियों के बारे में बताया है.

उन्‍होंने द टाइम्‍स ऑफ इंडिया में यह आर्टिकल लिखा है. इस आर्टिकल के कुछ खास संपादित हिस्‍सों को यहां पेश किया जा रहा है. अमित शाह ने लिखा कि जब मुझे पहली बार उनके साथ काम करने का मौका मिला तब से मैंने उनमें एक विशेष गुण ये देखा है कि संगठन या सरकार में जिसको जो भी काम दिया गया हो, उसको निजी तौर पर वह प्रोत्‍साहित करते हैं. इससे उस व्‍यक्ति में खुद के खास होने का अहसास होता है. काम की महत्‍ता को पहचानने और जो सेवा-भाव के साथ इस काम में खुद को समर्पित कर रहे हैं, उनके प्रति सम्‍मान का भाव उनका विलक्षण गुण है.

इसी कड़ी में पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आशा, आंगनवाड़ी और एएनएम वर्करों से बात की. इसी तरह वह अपने मोबाइल ऐप से गुमनामी में जी रहे अथक परिश्रम करने वाले लोगों से जुड़े, उनके काम की सराहना करते हुए कहा कि वे राष्‍ट्र के निर्माण में अहम भूमिका निभा रहे हैं. आशा वर्करों से पहले इसी तरह वह टीचरों से मिले थे और राष्‍ट्र निर्माण में उनके योगदान की सराहना करते हुए उनके प्रति आभार प्रकट किया था.

इसके साथ अमित शाह ने लिखा कि इस तरह का दृष्टिकोण उत्‍कृष्‍ट संगठन और संस्‍थान निर्माता की निशानी को दर्शाता है. आखिर इनका निर्माण मनुष्‍य ही करते हैं, जो अपने निजी हितों के ऊपर साझा विजन के साथ आगे बढ़ते हैं. उनके त्‍याग और परिश्रम को जब सराहा जाता है तो इससे संगठन भी मजबूत होते हैं और प्रोत्‍साहन भी मिलता है.

इसके साथ ही पीएम मोदी की एक और खास खूबी का जिक्र करते हुए अमित शाह ने लिखा कि पीएम मोदी किसी चीज का बहुत बारीकी से अध्‍ययन करते हैं. उदाहरण के लिए हम लोग कई ऐसे कार्यक्रम में जाते हैं, जहां सबसे पहले दीप प्रज्‍ज्‍वलन का कार्यक्रम होता है. वहां पर यदि रूई को पहले ही घी में डाल दिया जाता है तो जब अतिथि उसको जलाते हैं तो दीप तुरंत प्रज्‍ज्‍वलित हो जाता है. लेकिन यदि रूई सूखी रह गई तो उसको प्रज्‍ज्‍वलित होने में समय लगता है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सूक्ष्‍म दृष्टि का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वह इन चीजों का भी खास ख्‍याल रखते हैं.

इसके साथ ही लिखा कि पीएम मोदी कानून-व्‍यवस्‍था को लेकर बेहद प्रतिबद्ध हैं…वे हम लोगों को प्रोत्‍साहित करते हैं कि हम भय या पक्षपात के बिना कानून के मुताबिक अपने काम करते रहें.