अटल बिहारी वाजपेयी की याद में सर्वदलीय श्रद्धांजलि सभा, कांग्रेस बोली- वोट बैंक की राजनीति कर रही है BJP

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की याद में आज भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) बिहार, मध्य प्रदेश, राजस्थान और गुजरात में सर्वदलीय श्रद्धांजलि सभा का आयोजन करेगी. साथ ही बीजेपी ने वाजपेयी की अस्थियों को 100 पवित्र नदियों में विसर्जित करने का फैसला किया है. बीजेपी के इस फैसले पर कांग्रेस ने कहा है कि पार्टी वोटबैंक की राजनीति कर रही है. बिहार कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने कहा, ”अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियों पर बीजेपी वोट बैंक की राजनीति कर रही है.”

आपको बता दें कि रविवार को दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियों को उनकी दत्तक पुत्री नमिता ने हरिद्वार में गंगा में विसर्जित किया था. इससे पहले पांच किलोमीटर लंबी अस्थी कलश यात्रा निकाली गई थी. इस यात्रा में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत शामिल हुए थे. वाजपेयी का नई दिल्ली में गुरुवार को एम्स में 93 साल की उम्र में निधन हो गया था.

कल नई दिल्ली में वाजपेयी की याद में प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया. इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत समेत अलग-अलग क्षेत्रों के तमाम बड़े दलों और संगठनों के नेता मौजूद थे. कांग्रेस के आनंद शर्मा, तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन, बसपा के सतीश मिश्रा, सीपीआई के डी राजा, लोकतांत्रिक जनता दल के मार्गदर्शक शरद यादव, नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला, पीडीपी की नेता महबूबा मुफ्ती, लोजपा के रामविलास पासवान, शिरोमणि अकाली दल की हरसिमरत कौर बादल समेत अन्य प्रार्थना सभा में मौजूद थे.

विपक्ष ने जोर दिया कि सबको साथ लेकर चलने की वाजपेयी की विरासत को अपनाने की जरूरत है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी को एक ऐसी हस्ती करार दिया जो कभी दबाव में नहीं झुके और न ही विषम परिस्थितियों में कभी निराश हुए. उन्होंने कहा, ‘‘वाजपेयी जी की वजह से आतंकवाद वैश्विक मंच पर एक महत्वपूर्ण मुद्दा बन गया.’’ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि वाजपेयी राजनीति में भी आरएसएस के कार्यकर्ता का अनुकरणीय जीवन जिए और हमेशा संगठन के मूल्यों के प्रति अटल रहे.