एशिया के नंबर-1, नंबर-2 मचा सकते हैं ‘धमाल’, मुकेश अंबानी को मिला नया ‘पार्टनर’!

नई दिल्ली। एशिया के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी को अपने कारोबार के लिए नया पार्टनर मिल गया है. यह कोई और नहीं बल्कि एशिया के नंबर-2 अमीर जैक मा हैं. अब दोनों मिलकर ई-कॉमर्स सेक्टर में धमाल मचाएंगे. दोनों की पार्टनरशिप, अमेरिकी कंपनी अमेजॉन और दुनिया के सबसे अमीर शख्स जेफ बेजोस के लिए बड़ी चुनौती होगी. दरअसल, रिलायंस इंडस्ट्रीज की 41वीं एनुअल जनरल मीटिंग में मुकेश अंबानी ने ऐलान किया था कि रिलायंस को हाईब्रिड और ऑनलाइन टू ऑफलाइन के नए कारोबार में संभावनाएं दिखाई दे रही हैं. इस ऐलान के करीब डेढ़ महीने बाद ही मुकेश अंबानी को अपना नया पार्टनर मिल गया है.

एशिया के दो सबसे अमीर एक साथ
एशिया के दो सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी और जैक मा एक साथ एक ही मार्केट में उतरने की प्लानिंग कर रहे हैं. अगर ऐसा हुआ तो नंबर-1, नंबर-2 की जोड़ी ई-कॉमर्स मार्केट में धमाल मचाएगी. अलीबाबा के जैक मा और मुकेश अंबानी अपनी रिटेल चेन के लिए हाथ मिला रहे हैं. दोनों भारत की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी बनाने की योजना कर रहे हैं.

रिलायंस रिटेल में 5 अरब डॉलर का निवेश
लाइव मिंट की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अलीबाबा के को-फाउंडर जैक मा जल्द ही मुकेश अंबानी की रिलायंस रिटेल में 5 अरब डॉलर का निवेश करने वाली है. इस निवेश से भारत के सबसे बड़े ई-रिटेल खिलाड़ी फ्लिपकार्ट और अमेजॉन को टक्कर मिलेगी.

मुकेश अंबानी, जैक मा, अलीबाबा, Relaince Industries, Alibaba, Relaince Retail, Jack Ma, Mukesh Ambani

अलीबाबा की विस्तार योजना
अलीबाब ग्रुप ने रिलायंस रिटेल में बड़ा हिस्सा खरीदने का प्रस्ताव दिया है. अलीबाबा ने रिलायंस के साथ मिलकर डिजिटल मार्केट में तहलका मचाने का मन बनाया है. वह भारत के रिटेल कारोबार में अपनी विस्तार योजना पर भी काम कर रहा है. रिलायंस रिटेल में हिस्सेदारी खरीदना उसकी विस्तार योजना का ही हिस्सा है.

फ्लिपकार्ट-अमेजॉन के लिए बड़ी चुनौती
दुनिया की दो बड़ी कंपनियां का एक साथ उतरना मौजूदा ई-कॉमर्स मार्केट लीडर्स के लिए चुनौती साबित होगा. रिलायंस और अलीबाबा के इस कदम से फ्लिपकार्ट और अमेजॉन जैसे मौजूदा प्लेयर्स के लिए बड़ा खतरा हो सकता है, जिन्होंने अभी अपने कारोबार में अरबों का निवेश किया है.

ई-कॉमर्स में उतरने की बड़ी तैयारी
रिलायंस की AGM में मुकेश अंबानी ने इस बात की ओर इशारा किया था कि वह देश की सबसे तेजी से बढ़ते ई-कॉमर्स मार्केट में बड़ी संभावनाएं तलाश रहे हैं. इस सेक्टर में अगले 10 साल में 21 फीसदी CAGR की ग्रोथ के साथ 202 अरब डॉलर पहुंचने की संभावना है. तेल कारोबार से टेलीकॉम इंडस्ट्री में धमाल मचाने वाले मुकेश अंबानी ने कहा कि वह रिलायंस रिटेल के फिजिकल स्टोर के विस्तार की योजना बना रहे हैं, जिसे जियो डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर की मदद से फैलाया जा सकेगा.

पिछले महीने हुई थी मुलाकात
रिपोर्ट के मुताबिक, अलीबाबा ग्रुप के एक्जिक्यूटिव चेयरमैन जैक मा ने रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी से मुंबई में जुलाई के अंत में मुलाकात की थी. इस मुलाकात के दौरान ही दोनों के बीच प्रस्ताव को लेकर चर्चा हुई. दोनों के बीच प्रस्तावित ज्वाइंट वेंचर के जरिए एक बड़ी रिटेल चेन बनाने की योजना जैसे मुद्दों पर चर्चा की है.

रिलायंस इंडस्ट्रीज को खुदरा कारोबार में बंपर कमाई, 9,459 करोड़ रुपये का हुआ मुनाफा

50 फीसदी हिस्सा खरीदने की चर्चा
रिपोर्ट में कहा गया है कि अलीबाबा रिलायंस रिटेल में एक महत्वपूर्ण हिस्सेदारी लेने का इच्छुक है, इसमें ज्यादा उम्मीद 50 फीसदी हिस्सेदारी की है. इसके लिए अलीबाबा को 5-6 अरब डॉलर का निवेश करना होगा. ज्वाइंट वेंचर में अलबीबा की तरफ से किसी भारतीय कंपनी में किया गया सबसे बड़ा निवेश होगा.

अलीबाबा के लिए महत्वपूर्ण है डील
रिपोर्ट के मुताबिक, यह डील अलीबाबा के लिए बेहद महत्वपूर्ण है. खासतौर पर तब जब भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने पेटीएम (जिसमें अलीबाबा का 49% हिस्सा है) को शेयरहोल्डिंग पैटर्न के तहत नए ग्राहकों को न जोड़ने का आदेश दिया है.

सबसे तेजी से बढ़ती रिटेल कंपनी
रिलायंस रिटेल इस वक्त देश की सबसे तेजी से बढ़ती रिटेल कंपनी है. उसके 4400 शहरों में 7500 स्टोर्स हैं और करीब 35 करोड़ ग्राहक के बीच उसकी पहुंच है. वित्त वर्ष 2017-18 में 100 फीसदी ग्रोथ के साथ रिलायंस रिटेल की आय 69000 करोड़ को पार कर चुकी है. उसके फैशल रिटेल आउटलेट ट्रेंड्स और कंज्यूमर इलेक्ट्रिक ब्रांड्स रिलायंस डिजिटल अपनी कैटेगरी में सबसे बड़े हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *