कांग्रेस से निलंबन खत्म होते ही मणिशंकर अय्यर ने जताई लोकसभा चुनाव लड़ने की इच्छा

नई दिल्ली। कांग्रेस निलंबन खत्म होते ही मणिशंकर अय्यर ने कहा है कि वह अब अपने संसदीय क्षेत्र जा सकते हैं. उन्होंने कहा कि निलंबन की वजह से वह तमिलनाडु में अपने संसदीय क्षेत्र नहीं जा पा रहे थे. लेकिन अब वह 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले वहां जा सकते हैं. साल 2009 में मणिशंकर अय्यर मियलादुथुरुआई सीट से लोकसभा चुनाव हार गये थे.  उन्होंने कहा, मैं वापसी से बहुत खुश हूं. क्योंकि चुनाव अब कुछ ही महीने दूर हैं. अब मैं अपने संसदीय क्षेत्र जा सकूंगा. वहां देखभाल कर सकूंगा. पिछले 8-9 महीने से मुझे अपने संसदीय क्षेत्र जाने से रोक दिया गया था.’ जब उनसे पूछा गया तो क्या पार्टी की ओर से उनको किसी पर व्यक्तिगत टिप्पणी करने से से रोका गया है तो उनका जवाब था कि वह पार्टी आलाकमान पर कुछ नहीं कहना चाहते हैं.

गौरतलब है कि कांग्रेस ने शनिवार को मणिशंकर अय्यर पर से निलंबन का वापस ले लिया है. यह फैसला पार्टी की अनुशासन समिति की सिफारिश के बाद लिया गया है. अय्यर को दिसंबर 2017 में गुजरात चुनाव के समय पीएम मोदी के बारे में ‘नीच’ शब्द का इस्तेमाल करने पर निलंबित कर दिया गया था. उस समय पहले चरण का चुनाव चल रहा था और पीएम मोदी सहित पूरी बीजेपी ने इसको मुद्दा बना लिया था. जिससे कांग्रेस बैकफुट पर आ गई थी.

मणिशंकर अय्यर पहले भी अपने बयानों की वजह से पार्टी को मुश्किल में डाल चुके हैं. साल 2014 चुनाव से पहले अय्यर ने ही सबसे नरेंद्र मोदी के लिये ‘चायवाला’ शब्द का इस्तेमाल किया था और उनके इस बयान का बीजेपी ने पूरे चुनाव में खूब भुनाया था.