नाना पाटेकर को मिला महाराष्ट्र सरकार के मंत्री का समर्थन, तनुश्री दत्ता पर उठाए सवाल

मुंबई। महाराष्ट्र सरकार के गृह राज्य मंत्री दीपक केसरकर बुधवार को एक्टर नाना पाटेकर के समर्थन में सामने आए और उन्हें ‘शानदार शख्सियत’ बताया जिन्होंने राज्य के लिए जबरदस्त काम किया है. पाटेकर पर 2008 में एक फिल्म के सेट पर एक्ट्रेस तनुश्री दत्ताका उत्पीड़न करने का आरोप है. मंत्री केसरकर ने तनुश्री के दावे की सच्चाई पर सवाल करते हुए पूछा कि इतने साल से केस दर्ज क्यों नहीं कराया?

शिवसेना के नेता दीपक ने कहा कि पाटेकर सामाजिक कार्य के लिए जाने जाते हैं और जब तक कोई शिकायत नहीं होती है तब तक कोई भी पाटेकर के कद वाले व्यक्ति पर आरोप नहीं लगा सकता है. उन्होंने कहा कि पाटेकर एक ‘शानदार व्यक्तित्व’ हैं जिन्होंने महाराष्ट्र के लिए जबरदस्त काम किया है.

तनुश्री के दावे पर मंत्री ने कहा, ‘‘यह ऐसा नहीं है कि गृह विभाग कैसे काम करता है. बीते 10 सालों में केस क्यों दर्ज नहीं कराया गया? ऐसे क्या ठोस सबूत हैं कि घटना के एक दशक बाद शिकायत दर्ज कराई जा सकती है?’’ बता दें कि इससे पहले सेंसर बोर्ड के पूर्व चीफ पहलाज निहलानी भी पाटेकर का खुलकर समर्थन कर चुके हैं और तनुश्री के आरोपों को पब्लिसिटी स्टंट करार दिया.

क्या है पूरा मामला
बता दें कि ‘आशिक बनाया आपने’ फिल्म से हिट हुई एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता ने एक टीवी इंटरव्यू में दत्ता ने आरोप लगाते हुए कहा, ”10 साल पहले ‘हॉर्न ओके प्लीज’ फिल्म के सेट पर नाना पाटेकर ने मेरे साथ गलत व्यवहार किया था. जब मैंने इस बारे में प्रोड्यूसर-डायरेक्‍टर से कहा कि यह बंदा (नाना पाटेकर) मुझे पकड़कर खींच रहा है और डांस सिखा रहा है तो बजाए मेरी शिकायत सुनने के उन्होंने एक और डिमांड रख दी कि वह अब इस गाने में मेरे साथ एक इंटीमेट डांस स्‍टैप करना चाहता है. उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि पाटेकर को फिल्मकारों और कोरियोग्राफर का मौन समर्थन था. अब सोशल मीडिया और अन्य मंचों पर इस पर खूब बहस हो रही है.