RML: कर्मचारियों को सता रहा कोरोना का डर, नहीं हुई रुकने की व्यवस्था

लखनऊ। डॉ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में कोविड चिकित्सालय में ड्यूटी कर रहे कर्मचारियों के हॉस्पिटल में रुकने की कोई व्यवस्था नहीं की गई. सभी कर्मचारी संक्रमित मरीजों का इलाज करने के बाद अपने-अपने घर अपने परिवार के पास जा रहे हैं.

स्वास्थ्य महानिदेशक ने दिए थे आदेश
प्रदेश के स्वास्थ्य महानिदेशक बीके गुप्ता ने डॉ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक के साथ-साथ प्रदेश के सभी चिकित्सा विश्वविद्यालय और राजकीय मेडिकल कॉलेजों को पत्र जारी कर निर्देशित किया था कि कोविड अस्पताल में कार्यरत चिकित्सकों व कर्मचारियों के रुकने की व्यवस्था किसी विशेष गेस्ट हाउस, होटल अथवा अन्य सुरक्षित स्थान पर की जाए. इसके लिए बाकायदा बजट भी आवंटित किया गया था.

परिवार को खतरा, कर्मचारी आक्रोशित
डॉ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान के कोविड अस्पताल में कार्यरत कर्मचारियों का कहना है कि उनके पूरे परिवार को वायरस का खतरा बना हुआ है. विरोध पर संस्थान प्रशासन कर्मचारियों से जबरदस्ती ड्यूटी करवा रहा है. रात में 12:00 बजे और सुबह 4:00 बजे कर्मचारी ड्यूटी से छूटने के बाद साधन के अभाव में इधर-उधर भटकने और फर्श पर सोने को मजबूर हैं. सभी कर्मचारी आक्रोशित हैं, जो किसी भी समय कार्य बहिष्कार कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *