आतंकी भिंडरावाले को ‘शहीद’ बताने पर हरभजन सिंह ने माँगी माफी, कहा- हड़बडी में व्हाट्सएप फॉरवर्ड शेयर कर दिया था

खालिस्तानी आतंकी जरनैल सिंह भिंडरावाले का महिमामंडन करने के कारण चौतरफा घिरे पूर्व टेस्ट क्रिकेटर हरभजन सिंह ने माफी माँग ली है। भिंडरावाले को दी श्रद्धांजलि को व्हाट्सएप फॉरवर्ड बताते हुए कहा है कि हड़बड़ी में बिना समझे शेयर कर दिया था। खुद को देश के लिए लड़ने वाला सिख बताते हुए देशवासियों की भावनाएँ आहत करने के लिए बिना शर्त माफी माँगी है।

हरभजन ने भिंडरावाले को ‘शहीद’ बताते हुए इंस्टाग्राम  स्टोरी में उसकी एक तस्वीर साझा कर, ‘प्रणाम शहीदा नू’ लिखा था। अब इसके लिए उन्होंने ट्विटर के जरिए माफी माँगी है। अपने पोस्ट में कहा है कि वह भारत विरोधी या अपने देशवासियों के खिलाफ किसी भी चीज का समर्थन नहीं करते हैं।

उन्होंने कहा, ”मैं कल (6 जून 2021) के एक इंस्टाग्राम पोस्ट के लिए अपना स्पष्टीकरण देना चाहता हूँ और माफी माँगना चाहता हूँ। यह एक व्हाट्सएप फॉरवर्ड था, जिसे मैंने बिना सोचे-समझे जल्दबाजी में पोस्ट कर दिया, जो यह दर्शाता है कि मैं भी इनके साथ खड़ा हूँ। यह मेरी गलती थी, जिसे मैं स्वीकार करता हूँ और किसी भी मंच पर मैं उस पोस्ट पर लिखे विचारों और उन लोगों का समर्थन नहीं करता जिनकी तस्वीरें उसमें थीं। मैं एक सिख हूँ, जो भारत के लिए लड़ेगा न कि भारत के खिलाफ। मैंने राष्ट्र की भावनाओं को आहत किया, इसके लिए यह मेरी बिना शर्त माफी है। वास्तव में मैं अपने लोगों के खिलाफ किसी भी राष्ट्र विरोधी समूह का समर्थन नहीं करता और ना ही कभी करूँगा।”

हरभजन ने लिखा, ”मैंने 20 साल तक इस देश के लिए अपना खून-पसीना बहाया है। मैं कभी भी भारत विरोधी किसी भी चीज का समर्थन नहीं करूँगा।”

बता दें कि रविवार (6 जून 2021) को ऑपरेशन ब्लू स्टार की 37वीं बरसी पर हरभजन सिंह ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से एक स्टोरी शेयर की थी। इसमें लिखा था, “सम्मान के साथ जीना और धर्म के लिए मरना। 1 जून से 6 जून 1984 को सचखंड श्री हरिमंदर साहिब पर शहीद होने वाले सिंह-सिंहनियों की शहादत को प्रणाम।”

उनकी इस हरकत के बाद वह ट्विटर पर ट्रेंड होने लगे और लोग उनसे सवाल करने लगे कि जिस भिंडरावाले ने तमाम हिंदुओं को मारा क्या वह शहीद है? तस्वीर में भी देख सकते हैं कि भिंडरावाले एकदम हीरो की तरह सेंटर में नीली पगड़ी में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *