टूट गये थे वरुण गांधी, मोदी ने किया था फोन, 2 साल बाद सच हुई बात

बीजेपी सांसद वरुण गांधी संजय और मेनका गांधी के इकलौते बेटे हैं, वो पिछले तीन बार से लोकसभा सांसद हैं, वरुण गांधी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पिता समान बताते हैं, एक इंटरव्यू में उन्होने कहा था कि कैसे नरेन्द्र मोदी ने जो बात कही थी, उनके लिये सही साबित हुई थी, आइये विस्तार से बताते हैं कि आखिर पूरा मामला क्या है।

2011 में शादी
वरुण गांधी ने साल 2011 में यामिनी रॉय से शादी की थी, दोनों की शादी वाराणसी में हुई थी, शादी के दो साल बाद 18 मार्च 2013 को उनके घर बेटी का जन्म हुआ, बेटी का नाम उन्होने आध्या प्रियदर्शिनी गांधी रखा, हालांकि वरुण की खुशियां ज्यादा दिन नहीं टिक सकी, उनकी नवजात बेटी महीने भर के भीतर ही 13 अप्रैल को दुनिया से चली गई, वो जन्म के साथ ही मस्तिष्क में संक्रमण से पीड़ित थी।

मौत से सदमा
एक इंटरव्यू में वरुण गांधी ने कहा था कि बेटी के निधन से उन्हें और उनकी पत्नी यामिनी गांधी को गहरा सदमा पहुंचा था, वरुण के अनुसार जब मेरी बेटी का देहांत हुआ, तो मैं बहुत टूट गया था, उस समय सबसे पहला फोन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आया था, उन्होने कहा देखो भगवान परीक्षा लेता है, भगवान ने एक देवी ली है, तो एक देवी देगा भी।

सच साबित हुई मोदी की बात
वरुण गांधी ने बताया कि मोदी जी की बात बिल्कुल सच साबित हुई, 2 साल बाद वरुण के घर एक और बेटी का जन्म हुआ, वरुण गांधी ने अपनी इस बेटी का नाम अनुसुइया रखा है, अनुसुइया अपनी दादी मेनका गांधी के काफी करीब हैं, मेनका अपनी पोती को लेकर संसद भवन भी आ चुकी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *