वामपंथी दादा का पोता और कट्टर कॉन्ग्रेसी का बेटा है ‘बुल्ली बाई’ का मास्टरमाइंड नीरज, बहन बोली- ये ऐप मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ नहीं

बुल्ली बाई ऐप (Bull Bai App) के मामले में गिरफ्तार किया गया 20 वर्षीय आरोपित नीरज बिश्नोई (Niraj Bishnoi) एक ऑनलाइन ट्रोल्स है, जिससे इसे पैसा तो नहीं मिलता, लेकिन प्रभावित जरूर है। एक पुलिस अधिकारी के मुताबिक, आरोपित नीरज के पिता कट्टर कॉन्ग्रेसी (Congress) हैं, जबकि उसके दादा वामपंथी थे।

मूल रूप से राजस्थान (Rajasthan) के नागौर का रहने वाला नीरज का परिवार अब असम (Assam) में रहता है। लेकिन जबसे उसे गिरफ्तार किया गया है परिवार को भी विरोध का सामना करना पड़ रहा है। वहीं लॉ की पढ़ाई कर रही उसकी बहन का कहना है कि उसके भाई ने मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ नहीं, बल्कि राम मंदिर के खिलाफ पोस्ट करने वालों के खिलाफ यह ऐप बनाया था।

द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक नीरज की बहन ने कहा, “यह एप्लीकेशन सेल्फ जेनरेटेड है, जिसकी इस तरह से कोडिंग की गई है कि जैसे ही कोई राम मंदिर (Ram Mandir) के खिलाफ कुछ भी पोस्ट करेगा तो वो बुल्ली बाई ऐप पर पॉप अप होगा।” उसने ये भी बताया कि यहाँ कोई नीलामी नहीं हो रही थी, जैसा कि ‘सुल्ली डील्स’ ऐप पर हो रही थी।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के मुताबिक, नीरज ने इस ऐप में इस तरह से कोडिंग की थी कि ऐप में शामिल 102 महिलाओं में से इसमें किसी का भी नाम डालने पर वह ऊपर आ जाती थी। नीरज के पिता दशरथ बिश्नोई कट्टर कॉन्ग्रेसी हैं। बेटे की इस हरकत को लेकर उन्होंने कहा, “इस बारे में किसी ने ये बात उनकी माँ को बता दिया था कि नीरज 2 लाख रुपए में महिलाओं को खरीदता और 4 लाख रुपए में बेचता है। ये सुनकर वो बीमार हो गई हैं।”

दशरथ कहते हैं, “मेरा बेटा बहुत अंतर्मुखी और संवेदनशील है। राजनेताओं और टीवी न्यूज शो एंकरों को जिम्मेदारी से बोलना चाहिए। वे नहीं जानते उनकी बातों से कौन प्रभावित हो सकता है।”

नीरज के पिता दशरथ का कहना है कि उनके पिता का देहान्त 2012 में हो गया है और उन्हें विश्वास है दादा का प्रभाव नीरज पर नहीं पड़ा है। दशरथ के चार भाई अभी भी राजस्थान में रहते हैं। इनमें से दो सेना के अधिकारी हैं। परिवार का कहना नीरज की गिरफ्तारी के बाद से गाँव में लोगों को लगने लगा है कि वो महिलाओं की तस्करी कर रहा है।

गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने नीरज को असम से 6 जनवरी 2022 को गिरफ्तार किया था। वो B.tech का स्टूडेंट है और भोपाल के वेल्लोर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (Vellore Institute of Technology) में पढ़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *