जम्मू-कश्मीर: सुरक्षाबलों ने हंदवाड़ा में एक आतंकी को मौत के घाट उतारा, एनकाउंटर जारी

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में सुरक्षाबलों ने एक आतंकवादी को मौत के घाट उतार दिया है. मंगलवार दोपहर से शुरू हुई ये मुठभेड़ देर रात तक जारी थी. सुरक्षाबलों को पुख्ता खबर मिली थी कि कुपवाड़ा जिले के हंदवाड़ा में 3-4 आंतकवादी छिपे हुए हैं. जब सुरक्षाबलों ने वहां घेरा डाला तो आतंकवादियों ने गोलाबारी शुरू कर दी. इसके बाद जवाबी कार्रवाई में एक आतंकवादी मारा गया. मुठभेड़ अभी जारी है.

सैन्य बलों की कार्रवाई में राष्ट्रीय राइफल्स, एसओजी और सीआरपीएफ के जवान शामिल हैं. आतंकवादियों की तरफ से गोलीबारी शुरू करने के बाद पूरे इलाके को घेर लिया और अतिरिक्त सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया गया. ऑपरेशन जारी होने के कारण मौत के घाट उतारे गए आतंकवादी का शव अभी सुरक्षा बल अपने कब्जे में नहीं ले पाए हैं.

संयुक्त अभियान 
रिपोर्ट के मुताबिक राष्ट्रीय राइफल्स के 30 जवान पेट्रोलिंग कर रहे थे, तभी उन पर गोलीबारी शुरू कर दी गई. इसके बाद सुरक्षाबलों ने जवाबी कार्रवाई शुरू की. माना जा रहा है कि कुछ आतंकवादी मौके से फरार होने में भी कामयाब हो गए. इसके बाद जम्मू कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह (एसओजी) और केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स (सीआरपीएफ) के साथ संयुक्त ऑपरेशन शुरू किया गया

जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में सुरक्षाबलों ने एक आतंकवादी को मौत के घाट उतार दिया है. मंगलवार दोपहर से शुरू हुई ये मुठभेड़ देर रात तक जारी थी. सुरक्षाबलों को पुख्ता खबर मिली थी कि कुपवाड़ा जिले के हंदवाड़ा में 3-4 आंतकवादी छिपे हुए हैं. जब सुरक्षाबलों ने वहां घेरा डाला तो आतंकवादियों ने गोलाबारी शुरू कर दी. इसके बाद जवाबी कार्रवाई में एक आतंकवादी मारा गया. मुठभेड़ अभी जारी है.

ऑपरेशन जारी है 
सैन्य बलों की कार्रवाई में राष्ट्रीय राइफल्स, एसओजी और सीआरपीएफ के जवान शामिल हैं. आतंकवादियों की तरफ से गोलीबारी शुरू करने के बाद पूरे इलाके को घेर लिया और अतिरिक्त सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया गया.

ऑपरेशन जारी होने के कारण मौत के घाट उतारे गए आतंकवादी का शव अभी सुरक्षा बल अपने कब्जे में नहीं ले पाए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक राष्ट्रीय राइफल्स के 30 जवान पेट्रोलिंग कर रहे थे, तभी उन पर गोलीबारी शुरू कर दी गई. इसके बाद सुरक्षाबलों ने जवाबी कार्रवाई शुरू की. माना जा रहा है कि कुछ आतंकवादी मौके से फरार होने में भी कामयाब हो गए. इसके बाद जम्मू कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह (एसओजी) और केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स (सीआरपीएफ) के साथ संयुक्त ऑपरेशन शुरू किया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *