19 साल के गेंदबाज ने दिखाई विराट कोहली को पवेलियन की राह, कप्तान भी रह गए हैरान

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ऐसे बल्लेबाज हैं, जो किसी भी फॉर्मेंट में खेलें उनके फॉर्म पर इसका कोई असर नहीं पड़ता है. टी-20 से टेस्ट में शिफ्ट होने के बाद भी विराट कोहली के बल्ले से रन नहीं रुकते हैं. विराट कोहली ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया 11 के खिलाफ प्रैक्टिस मैच में शानदार शुरुआत की. वहीं, इस मैच में एक बार फिर केएल राहुल फ्लॉप साबित हुए. के एल राहुल मिडिल ऑर्डर में मिले मौके का फायदा नहीं उठा पाए और केवल तीन रन बनाकर आउट हो गए. पृथ्वी शॉ ने 69 गेंदों पर 66 रनों की पारी खेली. चेतेश्वर पुजारा ने 89 गेंदों पर 54 रनों की पारी खेली. अपनी पारी में उन्होंने 6 चौके लगाए.

सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर खेले जा रहे इस मैच में विराट कोहली ने 87 गेंदों पर शानदार 64 रन की पारी खेली. उन्होंने अपनी पारी में सात चौके और एक छक्का लगाया, लेकिन जिस दुर्भाग्यशाली तरीके से वह आउट हो गए. इस मैच में जिस तरह विराट कोहली आउट हुए शायद पहले कभी नहीं हुए होंगे. बता दें कि 6 दिसंबर से भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहला टेस्ट मैच एडिलेड में खेला जाएगा. चार टेस्ट मैचों की सीरीज से पहले टीम इंडिया, ऑस्ट्रेलिया इलेवन के साथ एक प्रैक्टिस मैच खेल रही है. इस मैच में टीम इंडिया के सभी खिलाड़ी खेल रहे हैं. वहीं, ऑस्ट्रेलिया इलेवन से सिर्फ डिआर्सी शॉर्ट एक जाना पहचाना नाम है.

19 साल के युवा ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज एरोन हार्डी की गेंद को हिट करने के लिए विराट आगे निकले और बल्ले के बीच में खेल गए. गेंद हवा में उछली और हार्डी ने उन्हें फॉलो थ्रू में लपक लिया. जाहिर है यह युवा गेंदबाज इस पल को कभी नहीं भूल पाएंगे.

19 साल के एरोन हार्डी ने कप्तान विराट कोहली को पवेलियन की राह दिखाई. एरोन ने विराट कोहली को आउट करने के साथ-साथ तीन विकेट और झटके. एरोन ने रोहित शर्मा (40 रन), रविचंद्रन अश्विन (0), मोहम्मद शमी (0) रन को पवेलियन लौटाया.

बता दें कि ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच होने वाली सीरीज में विराट कोहली को सबसे अहम खिलाड़ी माना जा रहा है, लेकिन पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग का सोचना है कि चार टेस्ट मैचों की सीरीज में सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी कोहली नहीं होंगे. पोंटिंग का अनुमान है कि उस्मान ख्वाजा नंबर 1 के बल्लेबाज से ज्यादा रन बनाएंगे. पोंटिंग ने कहा कि ख्वाजा इस खेल में टॉप पर हैं, ऑस्ट्रेलिया में उनके रिकॉर्ड जबरदस्त हैं.

उन्होंने कहा, भारत के तेज गेंदबाज जिस तरह की चुनौती पेश करेंगे मुझे लगता है ख्वाजा उससे ऑस्ट्रेलिया में आसानी से निबट पाएंगे. मेरा मानना है का ख्वाजा इस सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाएंगे और ‘मैन ऑफ द सीरीज’ रहेंगे. ख्वाजा ने हाल ही में यूएई के दौरे में पाकिस्तान के खिलाफ पहले टेस्ट में 85 और 141 की पारी खेली है, जिसके चलते ऑस्ट्रेलिया टेस्ट ड्रॉ कराने में सफल रहा. ख्वाजा इस सीजन में परफेक्ट पैकेज हैं.

पोंटिंग ने कहा, ख्वाजा इस समय सही स्थिति में है. यूएई दौरे के बाद चयनकर्ताओं ने उन्हें दोबारा टीम में चुना है. उनके पास जो कौशल है उससे अपने गेम पर जितना विश्वास अब आया है उतना शायद पहले कभी नहीं रहा. अगला क्रिकेट सीजन उनके लिए अहम होने जा रहा है. 43 वर्षीय पोंटिंग ने कहा, हालांकि कोहली के लिए भी यह सीरीज अच्छी रहेगी, लेकिन ख्वाजा ने अतिरिक्त उछाल को खेलने का बेहतर अभ्यास किया है- खासतौर पर एडिलेड और पर्थ की ऑस्ट्रेलियन पिचों पर.

रिकी पोंटिंग ने कहा, कोहली जहां भी जाते हैं बढ़िया खेलते हैं, यहां भी वह बढ़िया खेलेंगे. पिछली ऑस्ट्रेलियाई सीरीज उनके लिए बढ़िया रही थी. विराट कोहली ने उस सीरीज में 86.50 की औसत से 692 रन बनाए थे.