गोरखपुर: रक्षाबंधन पर घर आए दारोगा ने सर्विस रिवाल्वर से गोली मारकर की खुदकुशी

गोरखपुर। सिद्धार्थनगर जिले में तैनात 35 वर्षीय दरोगा विकास सिंह ने गोरखपुर खोराबार के विवेकपुरम कालोनी स्थित अपने घर में रविवार की रात सर्विस रिवॉल्वर से गोली मारकर खुदकुशी कर ली. घटना की वजह पारिवारिक विवाद बताया जा रहा है. सूचना पर पहुंची पुलिस ने दरोगा का सर्विस रिवाल्वर कब्जे में ले लिया है. सीएम ड्यूटी के बाद वो रक्षाबंधन पर घर आ गए थे.

मूलरूप से देवरिया जनपद का रहने वाला था. सिद्धार्थनगर जिले के गिलौरा थाने में तैनात विकास सिंह की मुख्यमंत्री की सुरक्षा में ड्यूटी लगी थी. शुक्रवार की शाम को वह ड्यूटी में गोरखपुर आए थे.

सर्विस रिवॉल्वर से गोली मारकर जान देने वाले दरोगा विकास सिंह पत्नी से आए दिन होने वाले विवाद की वजह से काफी तनाव में रहते थे. पुलिस की नौकरी में रोजमर्रा के दबाव के बीच घर जाने पर पत्नी से होने वाले विवाद की वजह से वह काफी परेशान रहते थे. हालांकि उनकी हमेशा कोशिश रहती थी कि उनके और पत्नी के परिवार के लोगों को विवाद के बारे में पता न चले.

रविवार की रात विवाद के बीच पत्नी ने भाई को फोन कर बुलाया तो उसने खुद को गोली मारकर जान दे दी. मुख्यमंत्री के गोरखपुर से जाने के बाद विकास सिंह घर पहुंचे. उनके छोटे भाई अभिलाष के मुताबिक रात में 9 बजे के आसपास विकास सिंह और उनकी पत्नी शिप्रा सिंह अपने कमरे में थे. उनके बीच कुछ बातचीत चल रही थी. उस समय परिवार के अन्य लोग छत पर थे. कमरे में अचानक गोली चलने की और इसके बाद शिप्रा के चीखने की आवाज पर परिवार के लोग नीचे आए, तो विकास सोफे पर खून से लथपथ मिले.

उनके सीने में बाई तरफ गोली लगी थी. सोफे के पास ही सर्विस रिवाल्वर गिरी हुई थी. परिजन आनन-फानन में विकास को जिला अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. घटना की सूचना पर SP नार्थ रोहित सिंह सजवान पुलिस अधीक्षक नगर विनय कुमार सिंह क्षेत्राधिकारी कैंट प्रभात राय और खोराबार थाने के पुलिस मौके पर पहुंची थी.

पुलिस अधीक्षक नगर विनय सिंह ने बताया कि शुरुआती छानबीन में पत्नी से विवाद के बाद दरोगा के गोली मारकर खुदकुशी करने की बात सामने आई है. मामले की गहराई से छानबीन की जा रही है.