INDvsAUS: ऋषभ पंत ने एडिलेड में ताबड़तोड़ पारी खेलकर हासिल किया यह मुकाम

 टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया में 10 साल बाद टेस्ट मैच जीतने के करीब है. ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर गई टीम इंडिया ने एडिलेड टेस्ट में चौथे दिन खुद को मजूबत स्थिति में ला दिया है. भारत ने ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 323 का लक्ष्य दिया है. मेजबान टीम अभी मैच बचाने के लिए संघर्षरत है. उसे मैच जीतने के लिए 219 रन बनाने हैं, जबकि उसके केवल 6 विकेट बचे हैं. टीम इंडिया की दूसरी पारी में ऋषभ पंत एक बार फिर बढ़िया पारी को लंबी नहीं कर सके लेकिन उन्होंने एक खास रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया.

टीम इंडिया ने मैच के चौथे दिन अपनी पारी 3 विकेट पर 151 से आगे खेलना शुरू किया तब चेतेश्वर पुजारा और आजिंक्य रहाणे ने टीम इंडिया का स्कोर 200 के पार किया जिसमें चेतेश्वर पुजारा की हाफ सेंचुरी रही. इसके बाद लंच तक टीम इंडिया का स्कोर 260 पर पांच विकेट था. तब ऋषभ पंत क्रीज पर आए चार ओवर ही हुए थे. लंच के बाद पंत ने अपने अंदाज में बल्लेबाजी की और दूसरे सत्र के पहले ही ओवर में उन्होंने लगातार तीन चौके और एक छक्का लगा डाले. इसके अगले ओवर में पंत 16 गेंदों पर 28 रन बना कर आउट हो गए.

यह बना खास रिकॉर्ड
इस छोटी सी पारी में एक छक्के के साथ पंत ने एक खास रिकॉर्ड बना लिया. पंत ने साल 2018 में 14 टेस्ट छक्के लगाए हैं. अब वे एक कैलेंडर ईयर में छक्के लगाने के मामले में इंग्लैंड के सैम करेन के सा दूसरे नंबर पर पहुंच गए हैं. पंत के पास नंबर 1 बनने का मौका है उन्हें शीर्ष पर पहुंचने के लिए केवल तीन छक्कों की जरूरत है. पहले नंबर पर 17 छक्कों के साथ वेस्टइंडीज के शिमरन हेटमायर हैं.

मुश्किल में है ऑस्ट्रेलिया इस समय
जब ऑस्ट्रेलिया को 323 रनों का लक्ष्य मिला तभी तय हो गया था कि ऑस्ट्रेलिया के लिए यह लक्ष्य आसान नहीं है. चौथे दिन का खेल खत्म होने तक ऑस्ट्रेलिया ने चार विकेट खोकर 104 रन बना लिए हैं. ऑस्ट्रेलिया ने आज तक इतना बड़ा लक्ष्य हासिल नहीं किया है. इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने 316 रनों का लक्ष्य साल 1901 में हासिल किया था.

पुजारा-रहाणे ने बनवाए 300 से ज्यादा रन
इससे पहले चेतेश्वर पुजारा और उपकप्तान अजिंक्य रहाणे की हाफ सेंचुरी की मदद से टीम इंडिया अपनी दूसरी पारी का स्कोर 300 से ज्यादा रन बनाने में कामयाब हो सकी. जिससे ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 323 रनों का लक्ष्य मिला. स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर की गैर मौजूदगी में ऑस्ट्रेलिया टीम पहले ही से काफी कमजोर मानी जा रही है. ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 98.4 ओवर खेलकर केवल 235 रन बनाए थे.