विराट कोहली: एशिया का पहला कप्तान, जिसने अफ्रीका-इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में दर्ज की जीत

भारत ने पांचवें दिन ऑस्ट्रेलिया के पुछल्ले बल्लेबाजों के पराक्रम के बावजूद सोमवार (10 दिसंबर) को यहां पहला टेस्ट मैच 31 रन से जीतकर चार मैचों की सीरीज में 1-0 से बढ़त बनाई. यह पहला अवसर है जबकि भारत ने ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर पहला टेस्ट जीता. भारत की यह ऑस्ट्रेलिया में कुल छठी जबकि एडिलेड ओवल में दूसरी जीत है. इस मैदान पर भारतीय टीम ने इससे पहले 2003 में जीत दर्ज की थी. भारत ने 10 वर्ष बाद ऑस्ट्रेलिया को उसकी सरजमीं पर हराया. आखिरी बार भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 2008 में पर्थ में मात दी थी.

इस ऐतिहासिक टेस्ट जीत के साथ ही टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के ताज में एक और हीरा जड़ गया है. विराट कोहली ऐसे पहले एशियाई कप्तान बन गए हैं, जिन्होंने एक कैलेंडर ईयर में दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट मैच में जीत हासिल की है. इसी के साथ विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम इंडिया ऐसी पहली एशियाई टीम बन गई है, जिसने एक कैलेंडर ईयर में दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट मैच में जीत हासिल की है.

भारत की 2018 में ओवरसीज टेस्ट जीत:
जनवरी- दक्षिण अफ्रीका को 63 रनों से हराया (जोहानिसबर्ग)
अगस्त- इंग्लैंड को 203 रनों से हराया (नॉटिंघम)
दिसंबर- ऑस्ट्रेलिया को 31 रनों से हराया (एडिलेड)

लगातार तीसरे साल विराट कोहली ने पार किए 2500 रन
विराट कोहली इस वक्त दुनिया के सबसे बड़े बल्लेबाज माने जा रहे हैं. अपनी बल्लेबाजी की शानदार परफॉर्मेंस के दम पर वह लगातार खुद को साबित कर रहे हैं. अपने 10 साल के क्रिकेट करियर में विराट कोहली ने लीजेंडरी क्रिकेटर का दर्जा हासिल कर लिया है. और इस बात की पूरी उम्मीद है कि अगले 5 सालों तक वह इसी पैशन के साथ परफॉर्म करते रहेंगे. भले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड में खेले गए पहले टेस्ट मैच में विराट कोहली बड़ा स्कोर बनाने से चूक गए हों, लेकिन इस दौरान भी उन्होंने कई रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए हैं.

विराट कोहली ने पहली पारी में 3 और दूसरी पारी में 34 रन बनाए. अपनी इन पारियों के साथ ही विराट कहोली क्रिकेट इतिहास के ऐसे पहले बल्लेबाज बन गए हैं, जिन्होंने लगातार 3 साल 2500 से ज्यादा रन बनाए हैं. विराट कोहली ने 2016 में 2595 रन और 2017 में 2818 रन और 2018 में 2513* रन बना लिए हैं.

पाकिस्तान के बाद एशिया की पहली टीम 
इसके साथ ही भारत एशिया की दूसरी टीम है, जिसने किसी टेस्ट सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में जीत हासिल की है. इससे पहले पाकिस्तान ने 1978-79 में ऐसा किया था. इसके अलावा भारत को पहली बार ऑस्ट्रेलिया में खेली गई टेस्ट सीरीज के पहले मैच में जीत हासिल हुई है.

सबसे तेज पूरे किए एक हजार रन
विराट कोहली ने इस मैच में सबसे तेज एक हजार रन पूरे किए. मैच के तीसरे दिन कोहली को एक हजार रन पूरे करने के लिए 18 रन की जरुरत थी. कोहली चौथे ऐसा करने वाले बल्लेबाज बन गए हैं. उनसे पहले सचिन तेंदुलकर (1809), वीवीएस लक्ष्मण (1236) और राहुल द्रविड़ (1143) का नंबर आता है.

ऑस्ट्रेलिया में पहली बार जीता सीरीज का पहला मैच 
एडिलेड ओवल में ऑस्ट्रेलिया को मात देकर टीम इंडिया ने इतिहास रच दिया है. मौजूदा सीरीज के पहले टेस्ट में भारत की यह जीत रिकॉर्ड बुक में शामिल हो गई है. 71 साल में पहली बार भारत ने ऑस्ट्रेलिया में किसी सीरीज का पहला टेस्ट जीता है. ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर 11 टेस्ट सीरीज के बाद भारत ने इस बार सीरीज की शुरुआत जीत से की है. बता दें कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज की शुरुआत 1947-48 में हुई थी. इसके बाद से भारत यहां कभी सीरीज का पहला टेस्ट मैच नहीं जीत पाया था. ऑस्ट्रेलियाई धरती पर भारत को 45 टेस्ट मैचों में यह छठी जीत हासिल हुई. इस मैदान पर टीम इंडिया के खाते में अब दो जीत हैं. उसने यहां 7 टेस्ट गंवाए हैं, जबकि 3 टेस्ट ड्रॉ रहे हैं.