ऑस्ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर को यकीन, पर्थ में तेज गेंदबाज करवाएंगे वापसी

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर का मानना है कि भारत के साथ होने वाले दूसरे टेस्ट मैच में वापसी करने के लिए उनकी टीम मानसिक और शारीरिक रूप से अपना सबकुछ झोंक देगी. एडिलेड में खेले गए पहले टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख तेज गेंदबाजों-मिशेल स्टार्क, जोश हेजलवुड और पैट कमिंस का न चल पाना लैंगर के लिए चिंता की बात थी. हालांकि, एडिलेड का विकेट स्पिनरों के थोड़ा अनुकूल था जहां भारत ने 31 रन से मैच जीतकर सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है.

क्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार, शुक्रवार (14 दिसंबर) से शुरू होने वाले दूसरे टेस्ट मैच के पहले दिन 36 डिग्री तापमान रहने की संभावना है. लैंगर का मानना है कि ऐसी परिस्थितियों में तेज गेंदबाजों का तालमेल टीम को सीरीज में वापसी करा सकती है.

लैंगर ने कहा, “एक तरफ जहां युवा खिलाड़ी हमारी मदद करेंगे हैं, क्योंकि उनके पास शारीरिक ताकत होगी, लेकिन यह मानसिक रूप से टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिए बहुत कुछ करने वाला है.” उन्होंने कहा, “आज सुबह मैंने मार्कस हैरिस से कहा कि जब आप 100 टेस्ट मैच खेलते हैं, तो टेस्ट क्रिकेट सच में थकाऊ हो जाता है. यह कुछ ऐसा है जिसके बारे में हम जानते हैं और अगले कुछ दिनों में इस पर काम करेंगे. इस बार टीम की ट्रेनिंग कुछ अलग होगी.”

मेजबान टीम को उम्मीद है कि पर्थ का विकेट तेज गेंदबाजों के अनुकूल होगी और यहां पर पांच दिन से पहले ही मैच का परिणाम आ सकता है. लैंगर ने कहा, “पर्थ में पहले भी गति और ऊछाल देखने को मिला था. हम वनडे और टी-20 में भी देख चुके हैं कि तेज गेंदबाजों को यहां कितनी मदद मिली थी. सीमित ओवरों के क्रिकेट में भी हमें गति और उछाल देखने को मिला था.”

उन्होंने कहा, “शुक्रवार का दिन गर्म रहेगा. मुझे लगता है कि यहां टॉस काफी महत्वपूर्ण होने वाला है. हम पिच के हिसाब से ही टीम संतुलन पर काम कर रहे हैं. मुझे उम्मीद है कि तेज गेंदबाजों को यहां स्विंग और गति से फायदा मिलेगा.”

ऑस्ट्रेलिया को अधिक रास आएगा पर्थ : रिकी पोंटिंग
पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग को लगता है कि पर्थ में शुक्रवार (14 दिसंबर) से शुरू होने वाले दूसरे टेस्ट मैच में मेजबान टीम का पलड़ा भारत पर भारी रहेगा. पोंटिंग का मानना है कि पर्थ की नई पिच ऑस्ट्रेलियाई टीम के अनुकूल है. उन्होंने क्रिकेट.काम.एयू से कहा, ”मुझे लगता है कि पर्थ की पिच भारतीय खिलाड़ियों की तुलना में हमारे खिलाड़ियों को अधिक रास आएगी, लेकिन ऑस्ट्रेलियाई टीम को जल्द से जल्द वापसी करनी होगी.”

पोंटिंग ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया को अपनी कमजोरियों से जल्द से जल्द निजात पानी होगी और पहले टेस्ट मैच की गलतियों से सबक लेना होगा. इस पूर्व कप्तान ने कहा, ‘‘उन्होंने इस सप्ताह खराब प्रदर्शन किया और हार गये. इसका मतलब यह नहीं है कि भारत ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया लेकिन वे पूरी तरह से सक्षम हैं.’’

Ricky Ponting

पोंटिंग ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया को इस पर कड़ी प्रतिक्रिया नहीं करनी चाहिए और दूसरे टेस्ट मैच में भी इसी प्लेइंग इलेवन के साथ उतरना चाहिए. एरोन फिंच सलामी बल्लेबाज के रूप में नाकाम रहे हैं लेकिन चयनकर्ताओं, कोच जस्टिन लैंगर और कप्तान टिम पेन ने उनका पक्ष लिया है.