INDvsAUS: ऑस्ट्रेलिया में विराट कोहली के पास हैं कप्तानी में नए रिकॉर्ड बनाने के मौके

 टीम इंडिया के ऑस्ट्रेलिया दौरे में चार टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट मैच जीतकर इतिहास रचने के बाद अब टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली नई इबारत लिखने को तैयार हैं. कोहली को भारत का सबसे सफल कप्तान बनने के लिए केवल तीन जीत की दरकार है और अगर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वर्तमान सीरीज में टीम क्लीन स्वीप करने में सफल रहती है तो वह महेंद्र सिंह धोनी को पीछे छोड़कर कप्तानी में भी शिखर पर पहुंच जाएंगे.

विश्व के नंबर एक बल्लेबाज कोहली की अगुवाई में भारत ने अब तक 43 टेस्ट मैच खेले हैं जिनमें से 25 में उसने जीत दर्ज की है. बाकी मैचों में से नौ में भारत को हार मिली जबकि इतने ही मैच ड्रा छूटे. अभी धोनी भारत के सबसे सफल कप्तान हैं जिनके नाम पर 60 मैचों में 27 जीत दर्ज हैं. मतलब कोहली को उनकी बराबरी करने के लिये अब केवल दो जीत की दरकार है.

विदेशों में सफल कप्तानी में सौरव गांगुली हैं शीर्ष पर
एडीलेड टेस्ट जीतकर भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार मैचों की सीरीज का शानदार आगाज किया है और ऐसे में उसके पहली बार ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर सीरीज जीतने की संभावना भी बढ़ गई है. कोहली सबसे सफल भारतीय कप्तान बनने से पहले विदेशों में सबसे अधिक मैच जीतने वाले भारतीय कप्तान बन सकते हैं. अभी यह रिकार्ड सौरव गांगुली के नाम पर है जिनके नेतृत्व में भारत ने विदेशी धरती पर सर्वाधिक 11 टेस्ट मैच जीते हैं जबकि कोहली 10 टेस्ट मैचों में जीत के साथ इस सूची में दूसरे स्थान पर हैं.

ऐसा रिकॉर्ड है विराट का 
कोहली की कप्तानी में भारत ने श्रीलंका में सर्वाधिक पांच जबकि वेस्टइंडीज में दो मैच जीते. इसके अलावा उनकी अगुवाई में टीम ने दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में एक-एक मैच में जीत हासिल की. ऑस्ट्रेलियाई धरती पर मैच जीतने वाले वह पांचवें भारतीय कप्तान हैं. बिशन सिंह बेदी की अगुवाई में भारत ने ऑस्ट्रेलिया में दो मैच जीते हैं और कोहली यह रिकार्ड भी अपने नाम पर करना चाहेंगे. सुनील गावस्कर, गांगुली और अनिल कुंबले की कप्तानी में भी भारत ने ऑस्ट्रेलिया में एक एक मैच जीता है.

विराट के पास यह मौका भी है अभी
कोहली अगर ऑस्ट्रेलिया में सबसे सफल भारतीय कप्तान नहीं बन पाते हैं तब भी 2019 में वह यह रिकार्ड अपने नाम कर सकते हैं. भविष्य के दौरा कार्यक्रम (एफटीपी) के अनुसार भारत को ऑस्ट्रेलिया दौरे के बाद 2019 में कुल आठ टेस्ट मैच खेलने हैं. एफटीपी के अनुसार भारत को मार्च में जिम्बाब्वे से एक टेस्ट खेलना है और फिर इंग्लैंड में जून में होने वाले विश्व कप के बाद जुलाई में दो टेस्ट मैचों के लिये वेस्टइंडीज का दौरा करना है. यह विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के तहत भारत की पहली सीरीज भी होगी. भारत अगले साल अक्टूबर-नवंबर में दक्षिण अफ्रीका की तीन और बांग्लादेश की दो टेस्ट मैचों के लिये मेजबानी करेगा.

लंबा सफल करना है विश्व का सबसे सफल कप्तान बनने के लिए
कोहली को हालांकि विश्व का सबसे सफल कप्तान बनने के लिए अभी लंबी राह तय करनी होगी. यह रिकार्ड दक्षिण अफ्रीका ग्रीम स्मिथ के नाम पर है जिन्होंने 109 टेस्ट में से 53 मैचों में जीत दर्ज की. स्मिथ के बाद ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग (48 जीत), स्टीव वॉ (41) वेस्टइंडीज के क्लाइव लायड (36), ऑस्ट्रेलिया के एलन बोर्डर (32), न्यूजीलैंड के स्टीफन फ्लेमिंग (28), वेस्टइंडीज के विव रिचर्ड्स और भारत के धोनी (दोनों 27) तथा ऑस्ट्रेलिया के मार्क टेलर, इंग्लैंड के माइकल वान और पाकिस्तान के मिसबाह उल हक (तीनों 26) का नंबर आता है.