INDvsAUS: हनुमा विहारी ने बताया, यह काम करना होगा टीम इंडिया को पर्थ में दूसरे दिन

 टीम इंडिया के आलराउंडर हनुमा विहारी ने बताया है कि टीम इंडिया के खिलाड़ियों, गेंदबाज और बल्लेबाज दोनों पर, भारत ऑस्ट्रेलिया के बीच पर्थ में चल रहे दूसरे टेस्ट मैच में  ज्यादा जिम्मदारी होगी. विहारी ने कहा भारतीय बल्लेबाजों के लिए अहम चीज यही होगी कि वे उस पिच पर अनुशासित बने रहें जो दूसरे टेस्ट के शुरूआती दिन बल्ले और गेंद के बीच अच्छे द्वंद्व के बाद तेज गेंदबाजों के लिए बेहतर हो गई है.

पहले दिन पिच सुबह के सत्र में थोड़ी धीमी थी लेकिन लंच के बाद यह तेज हो गई. भारतीय गेंदबाजों ने इससे अच्छा तालमेल बिठाते हुए छह विकेट चटकाए. विहारी ने 53 रन देकर दो विकेट हासिल किए जिससे आस्ट्रेलिया ने पहले दिन स्टंप तक छह विकेट पर 277 रन बना लिए.

ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं
विहारी ने कहा, ‘‘हमारे लिए अहम चीज यही है कि हम इन पहलुओं के बारे में ज्यादा नहीं सोचें. अगर यह ऊपर-नीचे होता है तो भी आप इसके बारे में कुछ नहीं कर सकते. अगर हम अपने दिमाग से इन चीजों को बाहर ही रखेंगे तो हम सफल रहेंगे. बल्लेबाज के तौर पर हम जितना संभव हो सकते अनुशासित होने की कोशिश करेंगे जैसा कि हमने पिछले टेस्ट की दूसरी पारी में किया था.’’ उन्होंने कहा, ‘‘आपको हर गेंद को देखकर खेलना होगा. यही मायने रखता है. अगर आप पिछली गेंद के बारे में सोचोगे तो आप अगली गेंद पर ध्यान नहीं लगा पाओगे. आपको पिछली गेंद को अपने दिमाग से निकालना होगा.’’

अनुशासित गेंदबाजी रही शुरुआत में भारत की
दूसरे टेस्ट के शुरूआती दिन सामान्य शुरूआत के बाद भारतीय गेंदबाजों ने अनुशासित गेंदबाजी की और अब दूसरे दिन का लक्ष्य आस्ट्रेलिया को पहली पारी में 320 रन तक के स्कोर पर समेटना है. विहारी ने कहा, ‘‘कल पहला घंटा काफी अहम होगा. अगह हम उन्हें 320 रन से कम के स्कोर पर आउट कर देते हैं तो हम मैच में बने रहेंगे. अगर हम अच्छी बल्लेबाजी करते हैं तो हमारे पास अच्छा मौका होगा. पहला घंटा अहम है.’’

यह योजना थी टीम इंडिया की
विहारी ने कहा, ‘‘हमारी एकमात्र योजना अनुशासित होने की थी. मुझे लगता है कि हमने इस संदर्भ में बहुत अच्छा किया. सभी तीन सत्रों में हमने सचमुच अच्छी वापसी की. हमने अच्छा प्रयास किया.’’ भारत टेस्ट इतिहास में केवल तीसरी बार चार तेज गेंदबाजों के साथ उतरा है और 14 ओवर गेंदबाजी करने वाले विहारी ने कहा कि इस मैच में कुछ ओवर करने के बाद उन्हें अपनी भूमिका समझ आ गई. उनकी शुरूआत इतनी अच्छी नहीं रही लेकिन उन्होंने फिर कसी गेंदबाजी से मार्कस हैरिस और शॉन मार्श के दो अहम विकेट अपने नाम किए.

यह बदलाव किया हनुमा ने
हनुमा ने कहा, ‘‘मैंने थोड़ा तेज गेंदबाजी करने की कोशिश की क्योंकि मैं थोड़ा ज्यादा पिच को हिट करने की कोशिश कर रहा था ताकि उछाल मिल सके. मेरी योजना यही थी कि कसी गेंदबाजी करने की कोशिश करूं और तेज गेंदबाजों को आराम दे सकूं. मैं जानता था कि जरूरत पड़ने पर मुझे गेंदबाजी करनी होगी. मैं इसके लिए तैयार था. मैं खुश हूं कि टीम के लिए अच्छा काम कर सका.’