INDvsAUS: विराट ब्रिगेड के लिए अच्छी खबर; टीम में जल्द वापसी कर सकते हैं हार्दिक पांड्या

ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज खेल रही भारतीय क्रिकेट टीम के लिए अच्छी खबर है. चोट के कारण टीम से बाहर चल रहे ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या फिट होकर फिर से मैदान पर लौट आए हैं. वे ना सिर्फ मैदान पर लौटे हैं, बल्कि फॉर्म में भी तेजी से वापसी के संकेत दिए हैं. वे फिलहाल मुंबई में रणजी ट्रॉफी में एलीट ग्रुप का मुकाबला खेल रहे हैं और अपने वापसी वाले मैच में ही पांच विकेट झटक चुके हैं. हार्दिक पांड्या ने अपने इस प्रदर्शन के बाद ऑस्ट्रेलिया दौरे (India vs Australia) के लिए टीम इंडिया में वापसी का दावा ठोक दिया है.

एक ही दिन शुरू हुए टेस्ट और रणजी मैच 
भारतीय क्रिकेट टीम शुक्रवार (14 दिसंबर) जब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ में दूसरा टेस्ट मैच (Perth Test) खेलने उतरी, उससे करीब दो घंटे बाद ही हार्दिक पांड्या भी मुंबई के मैदान पर उतरे. वे 19 सितंबर को यूएई में खेले गए पाकिस्तान से मैच के दौरान चोटिल हो गए थे. पांड्या इसी कारण वेस्टइंडीज के खिलाफ मैच नहीं खेल पाए और ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए भी टीम में नहीं चुने गए. हाल ही में जब उन्होंने अपने फिट होने की घोषणा की, तब भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने उन्हें रणजी मुकाबला खेलकर फिटनसे साबित करने के लिए कहा.

Hardik Pandya 110 IANS
हार्दिक पांड्या 19 सितंबर को पाकिस्तान के खिलाफ मैच के दौरान चोटिल हो गए थे. (फोटो: IANS) 

बड़ौदा के लिए की गेंदबाजी की शुरुआत 
बीसीसीआई के इसी निर्देश के बाद हार्दिक पांड्या शुक्रवार को अपनी रणजी टीम बड़ौदा की ओर से मैदान पर उतरे. कप्तान केदार देवधर ने चोट से वापसी कर रहे हार्दिक पांड्या को पहले ही ओवर में गेंद थमा दी. पांड्या ने भी अपने कप्तान को निराश नहीं किया. जब मुंबई की पारी 465 रन पर खत्म हुई, तब पांड्या के खाते में पांच विकेट दर्ज थे. पांड्या ने अपनी टीम की ओर से सबसे अधिक 18.5 ओवर गेंदबाजी की.

टीम इंडिया को खल रही है ऑलराउंडर की कमी 
टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया में ऐसे ऑलराउंडर की कमी खल रही है, जो तेज गेंदबाजी भी कर सकता हो. पर्थ में जारी दूसरे टेस्ट में ही भारत चार तेज गेंदबाज, छह बल्लेबाज और एक विकेटकीपर के संयोजन के साथ उतरा है. यह टीम की मजबूरी का संयोजन है. विशेषज्ञों का कहना है कि अगर भारत के पास हार्दिक पांड्या या ऐसा कोई दूसरा खिलाड़ी होता, तो वह अपने बॉलिंग अटैक में तीन तेज गेंदबाज, एक ऑलराउंडर और एक स्पिनर शामिल करता. इससे टीम के अटैक में विभिन्नता आ जाती.

स्पिन ऑलराउंडर से नहीं बन रही बात 
टीम इंडिया में अभी रवींद्र जडेजा के रूप में स्पिन ऑलराउंडर है. लेकिन ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाजी की मददगार पिचों पर उन्हें बहुत उपयोगी नहीं माना जा रहा है. ऐसे में हार्दिक पांड्या टीम के लिए उपयोगी हो सकते हैं. माना जा रहा है कि अगर मुंबई के खिलाफ बैटिंग में भी अच्छा प्रदर्शन करते हैं, तो टेस्ट सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलिया भी भेजे जा सकते हैं. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 4 मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा मैच 26 दिसंबर से खेला जाएगा.