VIDEO: भारत के पेस अटैक से ‘घायल’ हुए कंगारू, हैरिस के हेलमेट में लगी गेंद, फिंच रिटायर्ड हर्ट

 भारत और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच दूसरे टेस्ट के तीसरे दिन तेज गेंदबाजों का बेहतरीन प्रदर्शन देखने को मिला. पहले ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाजों ने भारतीय बल्लेबाजों की कड़ी परीक्षा ली. इसके बाद भारतीय गेंदबाजों की बारी आई. भारतीय गेंदबाजों ने विकेट से मिल रही उछाल का पूरा फायदा उठाया और शॉर्टपिच गेंदों से मेजबान बल्लेबाजों का उनके घर पर ही इम्तहान ले डाला. इस इम्ताहन में एरॉन फिंच तो घायल ही हो गए. मार्कस हैरिस, उस्मान ख्वाजा भी भारतीय गेंदबाजों के सामने नतमस्तक दिखे.

एरॉन फिंच चोट लगने के बाद रिटायर्ड हर्ट
भारतीय गेंदबाजों ने दूसरे टेस्ट (Perth test) के तीसरे दिन (रविवार, 16 दिसंबर) लगातार बाउंसर और शॉर्टपिच गेंदें फेंकीं. 13वें ओवर में मोहम्मद शमी की ऐसी ही एक गेंद एरॉन फिंच के ग्लव्स से टकराई. फिंच दर्द से कराह उठे और फिजियो को मैदान पर बुलाया. दर्द से राहत नहीं मिलने पर फिंच रिटायर्ड हर्ट होकर पैवेलियन लौट गए. उनकी उंगली में चोट लगी है. फिंच जरूरत पड़ने पर, दोबारा बैटिंग के लिए उतर सकते हैं. खबर लिखे जाने तक उन्हें एक्सरे के लिए ले जाया गया था.

CRICKET COM AU
 एरॉन फिंच और मार्कस हैरिस की यह तस्वीर क्रिकेट डॉट कॉम एयू ने ट्वीट किया है. (फोटो साभार: @cricketcomau)

बुमराह की गेंद हैरिस के हेलमेट से टकराई
फिंच की चोट से पहले मार्कस हैरिस भी भारतीय तेज गेंदबाजी का शिकार हुए. आठवें ओवर में जसप्रीत बुमराह की एक गेंद मार्कस हैरिस के सीधे हेलमेट से जा टकराई. बुमराह की इस गेंद को हैरिस ठीक से जज नहीं कर पाए थे और जब वे डक करने के लिए झुके, तब तक गेंद हेलमेट से टकरा चुकी थी (देखें वीडियो). अंपायर ने तुरंत मेडिकल टीम को मैदान पर बुलाया. हालांकि, हैरिस को ज्यादा चोट नहीं लगी थी और वे जल्दी ही खेलने को तैयार हो गए.

 

 

मोहम्मद शमी के वार से ख्वाजा परेशान 
उस्मान ख्वाजा को भी बैटिंग करते हुए चोट लगी. मोहम्मद शमी लगातार छोटी गेंदें फेंककर ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाजों की परीक्षा ले रहे थे. उनकी एक ऐसी ही गेंद उस्मान ख्वाजा की उंगलियों में गेंद लगी. ख्वाजा जब अपनी उंगलियों को देख रहे थे, तब तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी उन्हें देखकर मुस्कुराते नजर आए. हालांकि, यह ऐसी चोट नहीं थी, जिससे ख्वाजा की बैटिंग प्रभावित होती.

ऐसी खतरनाक गेंदबाजी नहीं देखी: गावस्कर 
शॉन मार्श, पीटर हैंड्सकॉम्ब और ट्रेविस हेड भी भारतीय गेंदबाजों से परेशान नजर आए. भारतीय गेंदबाजों ने ज्यादातर 140+ किमी/घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी की. सोनी सिक्स चैनल पर कमेंट्री कर रहे सुनील गावस्कर ने कहा कि उन्होंने भारतीय गेंदबाजों की ऐसी खतरनाक गेंदबाजी कभी नहीं देखी. गावस्कर ने कहा कि उन्होंने कई बार जवागल श्रीनाथ, शांताकुमारन श्रीसंथ को ऐसी गेंदबाजी करते देखा था. लेकिन यह पहला मौका है, जब टीम का हर गेंदबाज एकदूसरे को मात देता दिख रहा है.