India vs Australia 2nd Test, Day 4: ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के आगे बिखरे टीम इंडिया के टॉप ऑर्डर बल्लेबाज, भारत हार की ओर

नाथन लियोन और जोश हेजलवुड की उम्दा गेंदबाजी से ऑस्ट्रेलिया ने दूसरे क्रिकेट टेस्ट मैच के चौथे दिन के स्टंप्स तक भारत के 112 रन पर पांच विकेट गिरा दिए हैं. 287 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम के खिलाफ मेजबान ऑस्ट्रेलिया ने इस तरह जीत की ओर कदम बढ़ा दिए हैं.

भारत को जीत के लिए अब भी 175 रन की दरकार है जबकि उसके सिर्फ पांच विकेट शेष हैं. दिन का खेल खत्म होने पर हनुमा विहारी 24 जबकि ऋषभ पंत नौ रन बनाकर खेल रहे थे. भारत एडीलेड टेस्ट 31 रन से जीतकर चार मैचों की सीरीज में 1-0 से आगे है और अब ऑस्ट्रेलिया के पास कल जीत दर्ज करके सीरीज 1-1 से बराबर करने का सुनहरा मौका है.

पर्थ के नए स्टेडियम की असमान उछाल और टर्न लेती पिच पर दूसरी पारी में लियोन (30 रन पर दो विकेट) और हेजलवुड (24 रन पर दो विकेट) ने भारत को काफी परेशान किया. मिचेल स्टार्क ने भी 28 रन देकर एक विकेट चटकाया.

पहली पारी में 43 रन की बढ़त हासिल करने वाले ऑस्ट्रेलिया ने उस्मान ख्वाजा (72) और कप्तान टिम पेन (37) के बीच पांचवें विकेट की 72 रन की साझेदारी की बदौलत दूसरी पारी में 243 रन बनाए.

लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत की शुरुआत बेहद खराब रही. टीम ने पारी की चौथी ही गेंद पर लोकेश राहुल का विकेट गंवा दिया जो खाता खोले बिना ही मिचेल स्टार्क की गेंद को विकेटों पर खेल गए.

एडीलेड में पहले टेस्ट में भारत की जीत के हीरो रहे चेतेश्वर पुजारा भी चार रन बनाने के बाद हेजलवुड की उछाल लेती गेंद पर विकेटकीपर टिम पेन को कैच दे बैठे.

विजय और कप्तान विराट कोहली (17) ने टी ब्रेक के बाद 13 ओवर तक ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाजों को सफलता से महरूम रखा और इस दौरान कुछ आकर्षक शॉट भी खेले.

पहली पारी में पांच विकेट चटकाने वाले ऑफ स्पिनर नाथन लियोन ने कोहली को स्लिप में उस्मान ख्वाजा के हाथों कैच कराके विजय के साथ उनकी 35 रन की साझेदारी का अंत किया. अजिंक्य रहाणे (30) ने स्टार्क पर चौके के साथ भारत के रनों का अर्द्धशतक पूरा किया.

विजय भी 20 रन बनाने के बाद लियोन की गेंद पर बोल्ड हो गए. लियोन की गेंद रफ पर टप्पा खाने के बाद तेजी से अंदर आई और विजय के बल्ले का अंदरूनी किनारे से छूने के बाद लेग स्टंप उखाड़ गई.

रहाणे और विहारी ने इसके बाद पारी को संभालने की कोशिश की. दोनों ने टीम का स्कोर 98 रन तक पहुंचाया लेकिन इसके बाद रहाणे की एकाग्रता भंग हुई और वह हेजलवुड की गेंद पर हवा में शॉट खेलकर प्वाइंट पर ट्रेविस हेड को कैच दे बैठे.

भारत के 100 रन 36वें ओवर में पूरे हुए. विहारी और पंत ने हालांकि इसके बाद दिन का खेल खत्म होने तक आस्ट्रेलिया को और सफलता नहीं हासिल करने दी.

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया की टीम एक समय बड़े स्कोर की ओर बढ़त दिख रही थी लेकिन करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी करने वाले मोहम्मद शमी (56 रन पर छह विकेट) और जसप्रीत बुमराह (39 रन पर तीन विकेट) की बदौलत भारत ने उसे 250 रन से कम के स्कोर पर रोक दिया. शमी ने चौथी बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट चटकाए.

ऑस्ट्रेलिया ने एक समय बीच में 15 रन पर पांच विकेट गंवा दिए थे लेकिन हेजलवुड (नाबाद 17) और स्टार्क (14) ने अंतिम विकेट के लिए 36 रन जोड़कर टीम की बढ़त को 300 रन के करीब पहुंचाया.

शमी का यह प्रदर्शन ऑस्ट्रेलियाई धरती पर किसी भारतीय गेंदबाज का तीसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. इससे पहले पूर्व कप्तान कपिल देव ने 1985 में एडीलेड में 106 रन देकर आठ विकेट हासिल किए थे जबकि अजित आगरकर ने 2003 में एडीलेड में ही 41 रन पर छह विकेट चटकाकर भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई थी.

ऑस्ट्रेलिया ने दिन की शुरुआत शुरुआत चार विकेट पर 132 रन से की. ख्वाजा और पेन ने सुबह के सेशन में भारतीय गेंदबाजों को सफलता से महरूम रखा. टीम ने इस दौरान 30 ओवर में 58 रन जोड़े.

ख्वाजा और पेन ने पहले घंटे में काफी सतर्कता के साथ बल्लेबाजी की और इस दौरान सिर्फ 19 रन जोड़े.

भारत ने आक्रमण की शुरुआत अपने स्ट्राइक गेंदबाजों जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के साथ की लेकिन रन आउट के एक करीबी मौके को छोड़ दें तो भारतीय गेंदबाज विकेट हासिल करने के लिए जूझते रहे.

बुमराह ने शानदार गेंदबाजी की और विशेष रूप से ख्वाजा को काफी परेशान किया लेकिन विकेट से महरूम रहे.

दूसरे घंटे में ख्वाजा और पेन ने रन गति तेज करते हुए 39 रन जोड़े. ख्वाजा ने इस बीच 156 गेंद में अपना 14वां टेस्ट अर्द्धशतक पूरा किया और टीम की कुल बढ़त को 200 रन के पार पहुंचाया.

भारतीय कप्तान कोहली और पेन शाब्दिक जंग में उलझते दिखे जिसके बाद अंपायर क्रिस गफाने ने दोनों को चेतावनी दी.

लंच के बाद शमी ने भारत को वापसी दिलाई और पहले ओवर की पांचवीं गेंद पर ही पेन को बाउंसर पर स्लिप में कप्तान कोहली के हाथों कैच कराया. उन्होंने 116 गेंद का सामना करते हुए चार चौके मारे.

पारी के 13वें ओवर में शमी की गेंद पर अंगुली के चोट के कारण रिटायर्ड हर्ट हुए सलामी बल्लेबाज आरोन फिंच (25) इसके बाद मैदान पर उतरे और पहली ही गेंद को लेग साइड में फ्लिक करने की कोशिश में विकेटकीपर ऋषभ पंत को कैच दे बैठे.

शमी ने इसके बाद उछाल लेकर अंदर आती गेंद पर ख्वाजा को भी पंत के हाथों कैच कराके पारी का पांचवां विकेट हासिल किया. जसप्रीत बुमराह ने नीची रहती गेंद पर पैट कमिंस (01) को बोल्ड करके ऑस्ट्रेलिया का स्कोर आठ विकेट पर 198 रन किया.

शमी ने नाथन लियोन (05) को हनुमा विहारी के हाथों कैच कराके ऑस्ट्रेलिया को नौवां झटका दिया.

हेजलवुड और स्टार्क ने इसके बाद ऑस्ट्रेलिया की बढ़त को 300 रन के करीब पहुंचाया. बुमराह ने स्टार्क को बोल्ड करके ऑस्ट्रेलियाई पारी का अंत किया.