बिहार : अपनों को भी नहीं भाया कमलनाथ का बयान, कांग्रेस विधायक ने दी नसीहत

पटना। मध्य प्रदेश के नए नवेले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शपथ लेते हुए यूपी-बिहार के लोगों को लेकर ऐसा बयान दे दिया कि उनकी पार्टी के ही विधायक भड़क उठे. कांग्रेस विधायक रामदेव राय ने कमलनाथ के बयान का विरोध करते हुए कहा कि बिहारी मेहनती होते हैं और अपने दम पर पहचान बनाते हैं. उनका बयान सही नहीं है.

बछवाड़ा विधायक रामदेव राय ने कहा कि सीएम पद की शपथ लेने के तुरंत बाद इस तरह के बयान की उम्मीद नहीं थी. हालांकि कमलनाथ के बयान से महागठबंधन की एकजुटता पर कोई असर नहीं पड़ेगा. उन्होंने एसे बयानों से बचने की नसीहत दी.

कमलनाथ ने बिहारियों को ठहराया MP की बेरोजगारी का कारण, BJP-JDU ने किया बयान का विरोध

कांग्रेस विधायक ने कहा कि यह यह देश क्षेत्रवाद और अलगाववाद के लिए नहीं है. भारत संवाद के लिए जाना जाता है. बिहार के लोग कहीं भी इसलिए जाते हैं कि वे कुशल हैं. बिहारी मेहनती होते हैं. उन्होंने कहा कि क्षेत्रवाद को उभारना बिल्कुल गलत है. मुख्यमंत्री के बाद तुरंत ऐसा बयान देना फायदेमंद नहीं है.

कमलनाथ के बयान पर पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष और जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) नेता अशोक चौधरी ने भी हमला बोला है. कमलनाथ का बयान क्षेत्रवाद को बढ़ावा देने वाला है. उन्होंने कहा कि अगर सभी ऐसा सोचेंगे तो भारत की स्थिति रूस से भी खराब हो जाएगी. नए सीएम बनने के बाद कमलनाथ स्थानीय लोगों की सहानुभूति लेने के लिए ऐसे बयान दे रहे हैं.

ज्ञात हो कि कमलनाथ ने एमपी में एक नए नियम को मंजूरी दी है. इसके तहत प्रदेश में ऐसे उद्योगों को ही छूट दी जाएगी, जिनमें 70 प्रतिशत नौकरी मध्य प्रदेश के लोगों को दिया जाएगा. इसकी जानकारी देते हुए कमलनाथ ने कहा, ‘बिहार और यूपी जैसे राज्यों से लोग मध्य प्रदेश आते हैं. इस कारण स्थानीय लोगों को नौकरी नहीं मिल पाती है.’