बनारस में IED ब्लास्ट, बाप-बेटे की हत्या

चौबेपुर थाना क्षेत्र के मिल्कोपुर पचराव गांव में आज सुबह अपनी दुकान के बाहर चारपाई डाल कर सो रहे पिता लाल जी पटेल और पुत्र अजय उर्फ चंदन पटेल की ब्लास्ट कर निर्मम हत्या कर दी गई. फिलहाल पुलिस प्रथम दृष्टया इस हत्याकांड में आईईडी ब्लास्ट का इस्तेमाल किए जाने की आशंका जता रही है. वहीं, इस हत्या के बाद गांव में तनाव व्याप्त है और जिले की 12 थानों की फोर्स को मौके पर तैनात कर दिया गया है.
चौबेपुर थाना क्षेत्र के पचराव गांव के रहने वाले लालजी पटेल पहलवान थे और उनका बेटा अजय घर से ही कुछ दूर पर खली भूसी की दुकान चलाता था. बताया जा रहा है कि रात के वक्त पिता-पुत्र दोनों दुकान के बाहर चारपाई डाल कर सो गए थे. अचानक से तेज धमाके की आवाज सुनकर ग्रामीण नींद से उठे, लेकिन कुछ समझ में न आने पर सभी वापस घरों में चले गए.
सुबह जब रोशनी हुई तो पता चला कि दुकान के बाहर सो रहे दो युवक मृत पड़े हुए थे. अजय का सर उड़ चुका था जबकि पिता का सर और धड़ दोनों बुरी तरह से डैमेज हुआ था. एसएसपी वाराणसी आनंद कुलकर्णी का कहना है कि प्रथम दृष्टया आईईडी ब्लास्ट की आशंका जताई जा रही है.
फिलहाल फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम को जांच के लिए बुलाया गया है. जिले के और भी आला अधिकारी मौके पर पहुंच रहे हैं. स्थानीय लोगों ने पुलिस की कार्रवाई को लेकर सवाल उठाए हैं. ग्रामीण शव को कब्जे में नहीं लेने दे रहे हैं. हालात बिगड़ते देख पुलिस ने कई थानों की फोर्स को मौके पर बुलाई है.

ग्रामीणों ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए रोड पर जाम करने की भी कोशिश की है. SSP का कहना है प्रथम दृष्टया मामला पुरानी रंजिश से जुड़ा समझ आ रहा है. फिलहाल मौके पर बढ़ रही भीड़ को देखते हुए पुलिस के अलावा स्वाट टीम को भी मौके पर बुला लिया गया है. इस पूरे मामले में कानून व्यवस्था को लेकर सरकार को घेरने के लिए समाजवादी पार्टी के कई नेता भी चौबेपुर पहुंच गए हैं और इस निर्मम डबल मर्डर केस में राजनीति भी शुरू हो गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *