अभ्यर्थियों ने मुख्यमंत्री से की मांग, त्रुटि वाले उम्मीदवारों को भी दिया जाए एक मौका …

लखनऊ । सहायक अध्यापक भर्ती की दो महत्वपूर्ण परीक्षा पास करने वाले अभ्यर्थियों के शिक्षक बनने के सपना पर अब भी खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। उन्हें प्राप्तांक और पूर्णांक में हुई गलती को सुधारने का मौका नहीं दिया जा रहा है जिसके कारण सैकड़ों अभ्यर्थियों का भविष्य दाव पर लगा है । यह बातें मंगलवार को हजरतगंज स्थित सरदार पटेल पार्क में धरने पर बैठे अभ्यर्थियों ने कही । अभ्यर्थियों ने बताया कि 41556 के लिखित भर्ती के फार्म खुल रहे हैं, परंतु इसमें संशोधन का कोई अवसर नहीं दिया जा रहा है। जिससे हजारों अभ्यर्थियों के शिक्षक बनने का सपना टूट जायेगा ।

उन्होंने बताया की सचिव बेसिक शिक्षा ने एक आदेश जारी किया, जिसमें साइबर त्रुटि होने से अनुक्रमांक, नाम और मोबाइल नंबर में हुई गलती सुधारने के मिले मौके का जिक्र है । लेकिन जब साइबर त्रुटि इनमें हो सकती है तो वहीं गलती प्राप्तांक और पूर्णांक चढ़ाने में भी हो सकती है । साइबर कैफे वालों की गलती की सजा उन्हें क्यूं मिल रही है। अभ्यर्थियों ने मुख्यमंत्री से मांग की है की इस भर्ती प्रक्रिया में समय कम है। इसलिए इस पर जल्द ही कोई निर्णय ले और त्रुटि वाले उमीदवार को भी एक मौका दें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *