वामपंथियों की गिरफ्तारी पर भड़के राहुल, कहा- शिकायत करने वालों को मार दो गोली

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के भीमा कोरेगांव में पिछले साल हुई हिंसा को लेकर देश के कई बड़े शहरों में छापेमारी की गयी। वहीं कई वामपंथियों विचारकों, सामाजिक और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के घर हुई छापेमारी में पांच लोगों को हिरासत में लिया गया। जिसको लेकर अब राजनीति शुरू हो गयी है। इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर बड़ा हमला बोला है। राहुल ने तंज कसते हुए कहा है कि ‘न्यू इंडिया’ में एकमात्र एनजीओ आरएसएस के लिए जगह है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को हुई छापेमारी पर सवाल उठाते हुए ट्वीट किया कि ‘न्यू इंडिया’ में एकमात्र एनजीओ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएससए) के लिए जगह है। उन्होंने कहा कि भारत में अब सिर्फ एकमात्र एनजीओ के लिए जगह है और वह आरएसएस है। इसके बाद उन्होंने सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि ‘दूसरे सभी एनजीओ को बंद कर दो। सभी कार्यकर्ताओं को जेल भेज दो और शिकायत करने वालों को गोली मार दो। न्यू इंडिया में स्वागत है। वहीं सीपीआई नेता प्रकाश करात ने इस मामले में कहा कि यह लोकतांत्रिक अधिकारों पर बड़ा हमला है। हम मांग करते हैं इन लोगों के खिलाफ दर्ज किए गए सभी केस वापस लिए जाएं और उन्हें जल्द से जल्द रिहा किया जाए।

बता दें कि भीमा कोरेगांव हिंसा की जांच कर रही पुणे पुलिस ने मंगलवार की सुबह मुंबई, दिल्ली, हैदराबाद, फरीदाबाद और रांची में एक साथ छापेमारी की। इसके बाद कई घंटों तक तलाशी ली गयी औऱ फिर 5 लोगों को गिरफ्तार किया। पुणे पुलिस के मुताबिक सभी पर प्रतिबंधित माओवादी संगठन से लिंक होने का आरोप है।

वहीं मानवाधिकार कार्यकर्ता इसे सरकार के विरोध में उठने वाली आवाज को दबाने की दमनकारी नीति बता रहे हैं। रांची से फादर स्टेन स्वामी, हैदराबाद से वामपंथी विचारक वरवरा राव, फरीदाबाद से सुधा भारद्धाज और दिल्ली से सामाजिक कार्यकर्ता गौतम नावलाखा की भी गिरफ्तारी भी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *